श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से कोलकाता पोर्ट नामित

कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट का नाम बदलकर भारतीय राजनीतिज्ञ, बैरिस्टर और शिक्षाविद श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर रख दिया, जिन्होंने प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के मंत्रिमंडल में उद्योग एवं आपूर्ति मंत्री के रूप में कार्य किया था। मोदी ने कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट की 150वीं वर्षगांठ के अवसर पर यहां नेताजी इंडोर स्टेडियम में एक सभा को संबोधित करते हुए यह घोषणा की।

उन्होंने कहा, “कोलकाता पोर्ट भारत की औद्योगिक, आध्यात्मिक और आत्म स्वतंत्रता का प्रतीक है। अब जब यह पोर्ट अपने 150वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है, तो इसे नए भारत का प्रतीक बनाना महत्वपूर्ण है। इस अवसर पर, मैं पोर्ट का नाम बदलकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर रखने की घोषणा करता हूं, जो भारत के औद्योगीकरण के अगुआ रहे हैं।”

प्रधानमंत्री ने शनिवार को कोलकाता में रवीन्द्र सेतु (हावड़ा ब्रिज) के लाइट एंड साउंड शो का शुभारंभ किया था। इस अवसर पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

रवीन्द्र सेतु की नई सजावटी लाइटिंग में प्रोग्रामेबल मल्टी-कलर प्रकाश व्यवस्था के लिए 650 पावर-कुशल एलईडी और स्पॉटलाइट फिटिंग हैं, साथ ही ऐसा शो भी है जो संगीत के साथ सिंक करेगा। नए इंटरेक्टिव शो से पर्यटकों और स्थानीय लोगों को आकर्षित करने में मदद मिलेगी।

रवींद्र सेतु 1943 में कमीशन किया गया था।

संबंधित पोस्ट

ओडिशा : पीएम मोदी ने 500 करोड़ की सहायता की घोषणा की

सीएम भूपेश का पीएम को पत्र, श्रमिकों और अन्य व्यक्तियों के परिवहन पर रखी ये मांग

मंत्रोच्चारण सहित खुला बद्रीनाथ का सिंहद्वार, सोशल डिस्टेंसिंग का रखा ख्याल

सफर में मिले दर्द को भूलकर सरकारों की तारीफ करते नहीं थक रहे मजदूर

लॉकडाउन के अगले चरण पर संभावित फैसला आज, मोदी करेंगे बैठक

भगवान बुद्ध के संदेशों का अनुसरण कर दुनिया के साथ खड़ा भारत : मोदी

प्रधानमंत्री वर्चुअल वेसाक दिवस को संबोधित करेंगे, सोशल डिस्टैंसिंग का रखेंगे ख्याल

व्हाइट हाउस के ट्विटर पर प्रधानमंत्री को अनफॉलो करने से निराश हूं : राहुल

केंद्रीय नौकरशाही में फेरबदल, शर्मा व बजाज को पीएमओ से बाहर मिली जिम्मेदारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फेसबुक पर दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता बने

पीएम मोदी एक बार फिर 27 अप्रैल को मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे बातचीत

Corona Effect : बंगाल में गरीबों को नहीं मिल रहा राशन