एलएमआईपीएचएल का प्रमोटर बैंक धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार

नई दिल्ली। लियो मेरिडियन इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स एंड होटल्स लिमिटेड (एलएमआईपीएचएल) के प्रमोटर जी.एस.सी. राजू और उनके करीबी सहयोगी ए.वी. प्रसाद को 1,768 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया है। ये जानकारी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दी। यह गिरफ्तारी बैंक लोन व फंड के हेरफेर मामले में की गई है। मामले में कुल 1768 करोड़ रुपये की रकम का हेरफेर किया गया है।

ईडी ने कहा कि केंद्रीय वित्तीय जांच एजेंसी द्वारा केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों को बैंकों के एक कंसोर्टियम से दूसरों के साथ मिलकर धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

ईडी ने कहा कि राजू को धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) 2002 के तहत गिरफ्तार किया गया है।

एजेंसी के एक अधिकारी ने कहा कि गिरफ्तार अभियुक्तों को एक अदालत के समक्ष पेश किया गया, जिसने उन्हें सात दिन की ईडी हिरासत में भेज दिया।

पिछले साल 30 दिसंबर को ईडी ने पीएमएलए के प्रावधानों के तहत आरोपी एलएमआईपीएचएल, राजू व उनके परिवार, उनकी बेनामी संपत्ति और एलएमआईपीएचएल के निदेशकों से संबंधित 250.39 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की थी।

जांच के दौरान यह पता चला कि राजू ने अपने सहयोगियों के साथ एलएमआईपीएचएल में अवैध ले-आउट बनाकर बैंकों को ठगने और 315 व्यक्तियों को प्लॉट बेचकर एक सोची समझी साजिश को अंजाम दिया था।

ईडी के एक अधिकारी ने कहा, “उन्होंने पहले से ही बेची गई जमीन के कुछ हिस्सों को बैंकों को एक रिसॉर्ट परियोजना के लिए ऋण प्राप्त करने के लिए गिरवी रख दिया।”

अधिकारियों का कहना है कि बैंकों से ऋण लेने के लिए धोखाधड़ी का बड़ा जाल फैलाया गया था।

संबंधित पोस्ट

ईडी ने मेदांता, नरेश त्रेहन के खिलाफ जांच की जिम्मेदारी संभाली

रिश्वत मामले में ईस्टर्न कोलफील्ड्स का क्लर्क गिरफ्तार

लखनऊ विवि में लेक्चरर पद पर फर्जीवाड़े से नियुक्ति, मामला दर्ज

नोएडा का मुख्य अभियंता 116 करोड़ के घोटाले में सीबीआई के हाथों धराया

ईडी द्वारा फर्जी मुद्रा मामले में 4.6 करोड़ की संपत्ति जब्त

छोटा राजन के खिलाफ 4 और मामलों की सीबीआई जांच शुरू

रॉबर्ट वाड्रा मामला : सवालों पर टालमटोल कर रहे थम्पी

बीएसएफ भर्ती घोटाले में सीबीआई के छापे

NIA को बैन कराने सुप्रीम कोर्ट पहुंची भूपेश सरकार

पंजा दिखाकर चिदंबरम ने जीडीपी पर कसा तंज़…जवाब दिया 5 प्रतिशत

Chidambaram : SC में बोले सिब्बल, नहीं दिखाए दस्तावेज़

CBI की कैद में गुजरेगी चिदंबरम की जन्माष्टमी और वीकेंड