रतलाम में मोदी- “महामिलावटी” लोग कह रहे हैं अब बहुत हुआ

सातवें चरण के सियासी दंगल में पीएम मोदी की हुंकार

रतलाम। भारतीय जनता पार्टी अब सातवें चरण के सियासी दंगल में अपना पूरा ज़ोर लगा रहे है। देश के PM नरेंद्र मोदी खुद चुनावी प्रचार की कमान सम्हालें हुए है। मोदी ने सातवें चरण में होने वाले मतदान के लिए मध्यप्रदेश के रतलाम में चुनवाई हुंकार भरी है। उन्होंने रतलाम में एक विशाल जनसभा को सम्बोधित कर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है। रतलाम में मोदी ने चुनवाई सभा को संबोधित करते हुए कहा कि ये हमारे संस्कार हैं, ये रतलाम के संस्कार हैं, कि हम मां भारती के वंदन से अपना काम शुरु करते हैं, लेकिन हमेशा याद रखिएगा, कांग्रेस को भारत माता की जय से दिक्कत है। उन्हें मुझे गाली देने में खुशी होती है लेकिन भारत माता की जय नहीं बोल सकते। उन्होंने कहा कि देश गाली भक्ति से चलेगा या राष्ट्रभक्ति से चलेगा। नामदार भाषण की शुरुआत की गाली से करते हैं।

रतलाम में मोदी                                             मोदी ने एक बार भारतीय युद्धपोतों पर कांग्रेस के पिकनिक की बात को दोहराते हुए कहा कि कांग्रेस का नामदार परिवार पिकनिक के लिए देश के युद्धपोत का प्रयोग करता है और जब सवाल उठते हैं तो निर्लज्ज होकर जवाब देते हैं, हुआ तो हुआ। पनडुब्बी घोटाला हो या हेलीकाप्टर घोटाला, इनका एक ही जवाब है, हुआ तो हुआ। मोदी ने यूपीए सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि – इनके राज में हमारे वीर सपूतों को बुलेटप्रूफ जैकेट तक नहीं मिल पाती थी। आतंकी और नक्सली हमलों में हमारे वीर साथी अपनी जान गंवा देते थे। ये लोग कहते थे- हुआ तो हुआ। ऐसे मुश्किल सवालों का इनके पास एक ही जवाब होता है- हुआ तो हुआ। इसी तरह भोपाल में जो गैस कांड हुआ, जिसका खामियाजा आज भी लोग भुगत रहे हैं, उस बारे में बात की जाए, तो इनका अंदाज यही रहता है- हुआ तो हुआ। कॉमनवेल्थ घोटाला करके इन्होंने देश की प्रतिष्ठा दांव पर लगा दी, लेकिन जवाब है – हुआ तो हुआ। ये महामिलावटी लोग कह रहे हैं- ‘हुआ तो हुआ’।

रतलाम में मोदीकांग्रेस के घोषणा पत्र में दिखाई तल्खी
पीएम मोदी ने कांग्रेस के घोषणा पत्र पर भी तल्ख़ तेवर दिखाए है। मोदी ने रतलाम की सभा से ही कहा कि आजादी के 55 साल एक परिवार ने देश को ठगा है। क्या अब भी आप उनकों ठगने का मौका देना चाहते हो क्या ? इन्होने कहा था की बिजली का बिल हाफ करेंगे हुआ क्या ? बिल हाफ हुआ या बिजली की सप्लाई हाफ हुई ? आज किसानों के घर पर पुलिस पहुंच रही है। कर्जदार किसानों के जेल जाने की नौबत आ रही है। आखिर ऐसा क्यों हो रहा है? इस सवाल का जवाब है – तुगलक रोड चुनाव घोटाला।