मन की बात : पीएम बोले- इस दिवाली भारत की लक्ष्मी का करें सम्मान

नवरात्री की शुभकामनाओं सहित ई-सिगरेट पर भी रखे विचार

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात कार्यक्रम में भारत के युवाओं में सकारात्मक सोच लाने पर जोर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने बेटियों की रक्षा और सम्मान पर भी ज़ोर दिया है। उन्होंने कहा कि दीपावली में सौभाग्य और समृद्धि के रूप में, लक्ष्मी का घर-घर आगमन होता है। हमारी संस्कृति में बेटियों को लक्ष्मी माना गया है, क्योंकि बेटी सौभाग्य और समृद्धि लाती है।

             क्या इस बार हम अपने समाज, गांव, शहरों में बेटियों के सम्मान के कार्यक्रम रख सकते हैं ? हमारे बीच कई ऐसी बेटियां होंगी जा अपनी मेहनत और लगन से, टैलेंट से परिवार, समाज और देश का नाम रोशन कर रही होंगी। क्या इस दिवाली पर भारत की इस लक्ष्मी के सम्मान के कार्यक्रम हम कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम बेटियों की उपलब्धियों के बारे में सोशल मीडिया में अधिक से अधिक शेयर करें और #BharatKiLaxmi हैशटैग यूज करें।

पीएम अपने मन की बात में नवरात्रि की भी शुभकामनाएं प्रेषित की। उन्होंने कहा कि हम सभी नवरात्रि महोत्सव, गरबा, दुर्गापूजा, दशहरा, दीवाली, भैया-दूज, छठ पूजा, अनगिनत त्यौहार मनाएंगे। आप सभी को आने वाले त्यौहारों की ढेर सारी शुभकानाएं। त्यौहारों में घर खुशियों से भरे होंगे, लेकिन आपने देखा होगा कि हमारे आस-पास भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो इन त्यौहारों की खुशियों से वंचित रह जाते हैं और इसी को तो कहते हैं – ‘चिराग तले अंधेरा’। ये कहावत एक शब्द नहीं है, हम लोगों के लिए एक आदेश है, एक दर्शन।

युवाओं में सकारात्मक सोच
पीएम मोदी ने भारत के युवाओं में सकारात्मक सोच लाने पर जोर दिया है। इस सोच और सादगी के लिए टेनिस के स्टार खिलाड़ी डेनियल मेदवेदेव का उदाहरण दिया। यूएस ओपन 2019 में उपविजेता रहे मेदवेदेव वैसे तो रूसी खिलाड़ी है, पर उनके भीतर के स्पोर्ट्समैन स्पिरिट की चर्चा दुनियाभर में हुई है।

            उसी बात का उदाहरण देकर पीएम ने कहा कि यूएस ओपन में जीत के जितने चर्चे थे उतने ही उपविजेता रहे मेदवेदेव की स्पीच के भी चर्चे थे। पीएम ने कहा कि लोगों से स्पोर्ट्समैन स्पिरिट के जरिए दिल जीतने की कला हम सभी को इनसे सीखनी चाहिए।