नमामि गंगे : मोदी की अध्यक्षता में गंगा पर मंथन शुरू

मोटर बोट से पीएम ने किया गंगा का निरीक्षण

कानपुर, (आईएएनएस) | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में शनिवार को कानपूर में गंगा की अविरलता और निर्मलता पर मंथन शुरू हो गया है। इसके पहले मोदी विशेष विमान से चकेरी एयरपोर्ट पर पहुंचे, जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों तथा केंद्रीय मंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की अगवानी की। प्रधानमंत्री चकेरी एयरपोर्ट पर उतरने के बाद हेलीकॉप्टर से चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय पहुंचे, जहां उन्होंने सबसे पहले चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा पर नमन किया। इसके बाद उन्होंने नमामि गंगे मिशन के तहत लगी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। प्रधानमंत्री की मौजूदगी में नेशनल गंगा काउंसिल की बैठक शुरू हो चुकी है।

गिरते जल स्तर पर हो रही है मंथन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यहां गंगा परिषद (राष्ट्रीय गंगा परिषद) के राष्ट्रीय कायाकल्प, संरक्षण और प्रबंधन की पहली बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं। चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय परिसर में यह बैठक हो रही है। नमामि गंगे के अभियान में लगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कानपुर में गंगा नदी को अविरल और निर्मल करने के प्रयासों को अपनी कसौटी पर परखेंगे। नेशनल गंगा कांउसिल की पहली बैठक में पीएम मोदी कानपुर शहर में नमामी गंगे की परियोजनाओं का हाल और उसमें गिर रहे नालों का जायजा लेंगे। इसके बाद आने वाले समय में गंगा को स्वच्छ और उसके किनारों को सुंदर बनाने के लिए क्या-क्या किया जा सकता है, इसकी आगे की कार्ययोजना भी बनेगी। बैठक में गंगा की निर्मलता और अविरलता पर मंथन किया गया है। बैठक में दो राज्यों यूपी और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री, बिहार, यूपी के उप मुख्यमंत्री, केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के अलावा गंगा किनारे स्थित सभी पांच राज्यों के कई मंत्री, मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और एनएमसीजी के महानिदेशक राजीव रंजन मिश्र सहित 40 से अधिक प्रमुख लोग मौजूद रहे ।

पीएम मोदी का गंगा निरिक्षण
बैठक के बाद गंगा का हाल देखने वह अटल घाट पहुंचें, यहां स्टीमर पर सवार होकर करीब 45 मिनट तक गंगा मां की गोद में रहकर स्थिति का जायजा लें रहे है। इसके बाद पीएम मोदी गंगा मां की अविरलता और निर्मलता के लिए एक्शन प्लान पर भी मुख्यमंत्रियों और अफसरों से विमर्श करेंगे।