महाराष्ट्र पहुंचे नितिन गडकरी, बनाएंगे शिवसेना-भाजपा में सामंजस्य

सरकार बनाने का दावा लेकर राज्यपाल से भाजपा की मुलाक़ात

नई दिल्ली / मुंबई। चुनाव जितने के बाद महाराष्ट्र में भाजपा शिवसेना के गठबंधन में अब तक सूबे के मुखिया का चयन नहीं हो पाया है। इधर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आज महाराष्ट्र पहुंचे है। जहाँ उन्होंने कहा कि भाजपा-शिवसेना की सरकार को महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में सत्ता संभालनी चाहिए। उन्होंने कहा कि देवेंद्र फडणवीस जनता की पसंद है और उन्हें सरकार का नेतृत्व करना चाहिए। भाजपा ने 105 सीटें जीतीं, इसलिए मुख्यमंत्री भाजपा से होना चाहिए।

नितिन गडकरी ये भी कहा कि नागपुर आना और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालय जाने और मोहन भागवत से मुलाकात का इस मसले से कोई लेना देना नहीं है और न ही हमे इसे जोड़ना चाहिए। वही गडकरी को बतौर मुख्यमंत्री चुने जाने को लेकर भी भीतरी बयानबाज़ी से जुड़े सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि “मैं दिल्ली में हूं, मेरे महाराष्ट्र आने का कोई सवाल ही नहीं है।” भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल आज महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलेगा।
भाजपा और शिवसेना ने पिछले महीने महाराष्ट्र चुनाव में स्पष्ट बहुमत हासिल किया, जिसमें भाजपा के लिए 105 सीटें और शिवसेना के लिए 56 सीटें थीं।

नहीं हुई भागवत-ठाकरे की मुलाक़ात
शिवसेना के सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने अपने पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे और मोहन भागवत के बीच किसी भी बैठक या बातचीत से इनकार किया है।
वहीं उन्होंने पूर्व में गडकरी को इस मसले के समाधान के लिए योग्य बताया है। गडकरी महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना की पूर्व सरकार में मंत्री थे और सेना संस्थापक बाल ठाकरे के करीबी थे। गडकरी का उनके बेटे उद्धव ठाकरे के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध भी है।