ओडिशा ने जगन्नाथ हेरिटेज कॉरिडोर परियोजना पर प्रस्ताव पारित किया

भुवनेश्वर | ओडिशा विधानसभा ने शनिवार को जगन्नाथ हेरिटेज कॉरिडोर परियोजना के बारे में सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सदन में तीन प्रस्ताव पेश किए, जिनका भाजपा और कांग्रेस दोनों ने अपना समर्थन दिया।

पहला प्रस्ताव था कि पूरे समर्पण के साथ श्रीमंदिर परिक्रमा योजना को जल्द से जल्द पूरा करने का संकल्प लिया जाए।

दूसरे प्रस्ताव में हेरिटेज कॉरिडोर परियोजना के लिए सभी ओड़िया-भाषी और भगवान जगन्नाथ के भक्तों की भागीदारी और योगदान था।

तीसरा प्रस्ताव पुरी टाउन के लोगों का आभार व्यक्त करना था, जिन्होंने श्रीमंदिर परिक्रमा योजना के लिए बलिदान दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ओड़िया समुदाय की सबसे बड़ी पहचान भगवान जगन्नाथ हैं। हमारा इतिहास, संस्कृति, परंपरा और विश्वास प्रणाली सभी उनपर केंद्रित है। वे ओड़िया सम्मान और गौरव के प्रतीक हैं।

उन्होंने कहा कि भगवान जगन्नाथ के दर्शन के लिए मंदिर आने वाले सभी भक्तों को शांतिपूर्ण, सुंदर और आध्यात्मिक वातावरण में भगवान के दर्शन करने की इच्छा होती है।

उन्होंने कहा कि लाखों भक्त जीवन भर में एक बार जगन्नाथ मंदिर के दर्शन करने और भगवान की एक झलक पाने के लिए प्रार्थना करते हैं। यह हम सभी की जिम्मेदारी है कि हम सुनिश्चित करें कि सभी भक्त एक दिव्य भावना के साथ लौटें।

पटनायक ने कहा कि श्रीमंदिर परिक्रमा योजना के लिए तीन उद्देश्यों पर विचार किया गया था, जब न्यायमूर्ति बीपी दास समिति ने श्रीमंदिर सुरक्षा गलियारे के लिए सिफारिश की थी।

यह सिफारिशें थीं- श्रीमंदिर की सुरक्षा, मंदिरों में दर्शन के लिए जाने वाले लाखों भक्तों की सुरक्षा और भक्तों के लिए आध्यात्मिक वातावरण का निर्माण।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सामान्य तौर पर, सरकार योजना को लागू करने के लिए कदम उठाती है। मेरा मानना है कि यह योजना केवल सरकार या मंदिर प्रशासन के लिए नहीं है। यह 4.5 करोड़ ओड़िया लोगों की योजना है।

प्रस्तावों का समर्थOdisha Assembly.न करते हुए नेता प्रतिपक्ष प्रदीप कुमार नाइक ने कहा कि उनकी पार्टी पुरी को विश्व प्रसिद्ध विरासत स्थल बनाने के संकल्प का समर्थन कर रही है।

कांग्रेस विधायक दल के नेता नरसिंह मिश्रा ने कहा कि यह वास्तव में उत्कृष्ट कार्य है। कांग्रेस पार्टी संस्कृति और विरासत के साथ-साथ ओडिशा के इतिहास को बनाए रखने के लिए श्रीमंदिर परिक्रमा योजना का समर्थन करती है।

उन्होंने कहा कि यह आर्थिक गतिविधियों को समृद्ध करेगा और राज्य में पर्यटकों को आकर्षित करेगा।

–आईएएनएस

संबंधित पोस्ट

ओडिशा का हमलावर नक्सल कमांडर का बीजापुर में समर्पण

ओडिशा से छत्तीसगढ़ के रास्ते मुंबई पहुंचा 1.80 टन गांजा जब्त

ओडिशा में पिछले 2 सप्ताह में 5 हाथियों की मौत

सरगुजा: ओडिशा की बुजुर्ग महिला को हाथी ने पटक कर मार डाला

महासमुंद: सीमा पर नशीली दवाओं की तस्करी करते ओडिशा के दो गिरफ्तार

ओडिशा :राउरकेला में मालगाड़ी की चपेट में आने से दो हाथियों की मौत

ओडिशा ने ‘रेप’ शब्द के इस्तेमाल पर मुख्य कोच बॉक्सटर को बर्खास्त किया

ओडिशा : कटक के एक निजी अस्पताल में लगी भीषण आग

ओडिशा : पुलिस के मुखबिर के शक में 2 ग्रामीणों की नक्सल हत्या

ओडिशा में 9 और अधिकारियों को समय से पहले अनिवार्य सेवानिवृत्ति

ओडिशा के खरियाररोड के दुकानों में काम करने वाले युवकों का लूट गिरोह , गिरफ्तार

ओडिशा से निकली एंबुलेंस छत्तीसगढ़ में खड़ी टैंकर से टकराई, चालक की मौत