इंदौर में धरना दे रहे कांग्रेस नेताओं से अफसरों ने घुटने के बल बैठकर की बात, गाज गिरी

 वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

इंदौर/भोपाल। मध्यप्रदेश के इंदौर में धरना दे रहे कांग्रेस नेताओं को मनाने गए दो अधिकारियों को घुटने के बल बैठकर बात करना महंगा पड़ गया है। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व (एसडीएम) राकेश शर्मा और नगर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) डी.के. तिवारी का तबादला कर दिया गया है।

मामला शनिवार का है, इंदौर में राजवाड़ा पर देवी अहिल्या बाई की प्रतिमा के समक्ष पूर्व मंत्री व विधायक जीतू पटवारी, विधायक संजय शुक्ला व विशाल पटेल धरने पर बैठे थे। उनकी मांग थी कि पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए, क्योंकि गुप्ता ने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के जन्मदिन के मौके पर शुक्रवार को कमला नेहरू नगर में राशन वितरित किया था। इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया था।

धरने पर बैठे कांग्रेस नेताओं से संवाद करने एसडीएम राकेश शर्मा और सीएसपी डी. के. तिवारी मौके पर पहुंचे। इन अधिकारियों ने जमीन पर बैठे कांग्रेस नेताओं से संवाद खड़े रहकर न कर जमीन पर घुटनों के बल बैठकर किया। साथ ही उनसे धरना खत्म करने की अपील की।

दोनों अधिकारियों का कांग्रेस नेताओं से घुटने के बल बैठकर बात करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। देर रात तक प्रशासन ने दोनों ही अधिकारियों के तबादले के आदेश जारी कर दिए।

सामान्य प्रशासन विभाग के अवर सचिव ब्रजेश सक्सेना ने एसडीएम शर्मा का तबादला बतौर इंदौर के डिप्टी कलेक्टर सामान्य प्रशासन विभाग (पूल) में करने का आदेश जारी किया। इसी तरह सीएसपी तिवारी के तबादले का आदेश गृह विभाग के उपसचिव आशीष भार्गव ने जारी किया। तिवारी को भोपाल पुलिस मुख्यालय में पदस्थ किया गया है।

उल्लेखनीय है कि मप्र में उपचुनाव होेने हैं और इसके साथ ही राजनीतिक  आरोप -प्रत्यारोप का दौर जारी है। हाल ही में  मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने बगैर नाम लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर बड़ा हमला बोला । उन्होंने कहा कि “जिन्हें पहले पापी बताया जाता था, अब वे संगी-साथी हो गए हैं।”

कमल नाथ ने ट्वीट कर कहा, “धोखा, फरेब, साजिश, खरीद-फरोख्त, षड्यंत्र, प्रलोभन, ये आचरण तो धर्म कभी नहीं सिखाता! एक समय जिन्हें पापी बताते थे, आज वो ही संगी-साथी हैं। कोई नियत-नीति नहीं, नैतिकता नहीं, कोई सिद्धांत नहीं, यह धर्म की राह कैसे?”

(आईएएनएस)