CAB के विरोध पर बोले पीएम मोदी, विरोध के पीछे है विपक्ष

आरएसएस ने कहा- CAB के विरोधी बाबा साहेब का अनादर कर रहे

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि कांग्रेस एक परिवार से इतर नहीं सोच सकती है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीसीए) के विरोध और हुई हिंसा के पीछे कांग्रेस ने नेतृत्व वाले विपक्ष का हाथ है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की एक चुनावी रैली में उन्होंने कहा, “नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टियां आग लगाने का कार्य कर रही हैं। कांग्रेस की हरकतों ने साबित कर दिया कि संसद में लिए गए सभी निर्णय सही थे।”

पिछले कुछ दिनों से पूर्वोत्तर और उसमें भी विशेष रूप से असम में इसे लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं और अब इसमें पश्चिम बंगाल भी कूद पड़ा है। नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर चल रहे प्रदर्शनों में अभी तक चार लोगों की मौत हो चुकी है। विभिन्न संगठनों द्वारा भूख हड़ताल और रेलवे लाइनों पर धरना दिया जा रहा है। गुवाहाटी में लगाए गए कर्फ्यू में शनिवार को सात घंटे की ढील दी गई। प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “आगे भी कोई उम्मीद नजर नहीं आती कि ये लोग भारत और यहां के लोगों के लिए कुछ अच्छा करेंगे। उनकी चिंता केवल परिवार तक सीमित है।”

बाबा साहेब का कर रहे है अनादर-संघ
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने रविवार को कहा कि जो राज्य नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) का विरोध कर उसे लागू करने से मना कर रहे हैं, वह संविधान निर्माता बाबा साहेब का अपमान कर रहे हैं। संघ ने कहा कि कांग्रेस की पंजाब सरकार सिख विरोधी है, अन्यथा ऐसा क्यों है कि वह नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध कर रही है।