राजौरी में एलओसी पर पाकिस्तान ने की फायरिंग, जवान शहीद

पाकिस्तान के डिप्टी चीफ ऑफ मिशन को तलब किए अभी कुछ घंटे ही बीते हैं

जम्मू,| नगरोटा हमले को लेकर नई दिल्ली द्वारा पाकिस्तान के डिप्टी चीफ ऑफ मिशन को तलब किए अभी कुछ घंटे ही बीते हैं और शनिवार को जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तान ने संघर्ष विराम का उल्लंघन कर दिया। इसमें एक भारतीय जवान शहीद हो गया है।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा, “नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर हुए संघर्ष विराम उल्लंघन के दौरान सेना का एक हवलदार शहीद हो गया।”
Shopian: Security personnel carry out search operations after two unidentified terrorists were killed in an encounter with security forces in Chakura area in south Kashmir's Shopian district on Oct 14, 2020. (Photo: IANS)
भारतीय सेना एलओसी पर पाकिस्तान की गोलीबारी का करारा जवाब दे रही है।

पाकिस्तान बार-बार 1999 में दोनों देशों द्वारा हस्ताक्षरित द्विपक्षीय संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन कर रहा है। जनवरी 2020 से अब तक 3,200 से अधिक संघर्ष विराम उल्लंघन में 30 नागरिक मारे गए हैं और 110 से अधिक घायल हुए हैं।

बता दें कि गुरुवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगरोटा टोल प्लाजा के पास 4 आतंकवादी मारे गए थे, जिनके कब्जे से 11 एके राइफल और अन्य हथियार बरामद किए गए थे।

पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने कहा कि इन आतंकवादियों ने हाल ही में सांबा सेक्टर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा के जरिए जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ की थी। जिसके बाद भारत ने शुक्रवार की शाम को एक उच्च स्तरीय बैठक की।

कुलगाम में आईईडी को किया गया डिफ्यूज

 जम्मू एवं कश्मीर के कुलगाम जिले में शुक्रवार को सुरक्षा बलों ने बिछाए गए एक इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) को डिफ्यूज कर दिया। पुलिस ने कहा कि सुरक्षा बलों और राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों को कुलगाम जिले के शूरत गांव में एक संदिग्ध वस्तु दिखी।

पुलिस ने कहा, “वह संदिग्ध चीज आईईडी निकली, जिसे सुरक्षा बलों द्वारा सफलतापूर्वक डिफ्यूज कर दिया गया, नहीं तो किसी हादसे के होने की संभावना थी।”

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों द्वारा सुरक्षा बलों के वाहनों और वीआईपी रैलियों की गाड़ियों को निशाना बनाने के लिए सड़कों व राजमार्गो पर आईईडी बिछाते  है।

–आईएएनएस