बिहार में मोदी : एयर स्ट्राइक पर गला फाड़कर साबुत मांगने वाले गायब

बिहार में मोदी ने महागठबंधन पर जमकर साधा निशाना

दरभंगा / बिहार। बिहार के दरभंगा में पीएम नरेंद्र मोदी ने महागठबंधन पर जमकर निशाना साधा है। पीएम ने बिहारी में अपने भाषण की शुरुवात की। जिसके बाद उन्होंने एक एक कर महागठबंधन पर सियासी तीर चलाए है। मोदी ने बिहार दरभंगा में विशाल आम सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि – ये जो लहर है ये नए भारत की ललकार है।

बिहार में मोदी                             21वीं सदी में जो बेटा-बेटी पहली बार दिल्ली की सरकार चुन रहे हैं, वो नौजवान इस चुनाव का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें पुरानी बातें, जात-पात के समीकरण समझ नहीं आते। वो ठान के चले हैं कि 21वीं सदी का भारत उनकी आकांक्षाओं के अनुरूप हो। भारत माता की जय वंदे मातरम की महत्ता बताते हुए पीएम ने कहा कि हमारे लिए तो भारत माता की जय ही भक्ति है और वंदे मातरम् का उद्घोष, जीवन की शक्ति है। माँ भारती की समृद्धि, सुरक्षा और शांति का ही ये दायित्व है जिसे हम 130 करोड़ भारतीय मिलकर निभा रहे हैं। गठबंधन पर निशाना लगते हुए मोदी ने कहा कि हमारे आस पड़ोस में ही आतंक की फैक्ट्रियां चल रही हैं और ये कहते हैं की आतंकवाद मुद्दा ही नहीं है। जिस आतंकवाद ने श्रीलंका में 350 से ज्यादा मासूमों की जान ले ली, क्या ये मुद्दा नहीं हैं? महामिलावटी कहते हैं कि आतंकवाद मुद्दा ही नहीं है। महामिलावट करने वालों, आपके लिए आतंकवाद मुद्दा नहीं होगा, लेकिन नए भारत में ये बहुत बड़ा मुद्दा है। ये नया हिन्दुस्तान है, ये आतंक के अड्डों में घुसकर मारेगा।

बिहार में मोदीगला फाड़कर साबुत मांगने वाले गायब
मोदी ने तल्ख़ लहज़े से कहा कि 3 चरण के मतदान के बाद जो महामिलावटी गला फाड़कर एयर स्ट्राइक के सबूत मांग रहे थे, वो अचानक गायब हो गए हैं। जो पाकिस्तान का पक्ष ले रहे थे, वो अब मोदी और ईवीएम को गाली देने लगे हैं। ये लोग जनता की नब्ज नहीं समझ पाए, इसलिए जनता ने 3 चरण में इन्हें ठीक से समझा दिया है।

कांग्रेस ने दिया धोखा
मोदी ने कांग्रेस सरकार के वादों पर भी ज़बरदस्त तंज़ कसा है। उन्होंने कहा कि 2004 में कांग्रेस ने घोषणा पत्र में देश को वादा किया था कि वो 2009 तक देश के हर घर में बिजली पहुंचा देंगे। क्या ये वादा पूरा हुआ था? कांग्रेस और उसके साथियों ने आपको धोखा दिया। 2014 में आपने कांग्रेस की इस नीयत को पहचाना और इस चौकीदार को जिम्मेदारी दी। मैंने लाल किले से कहा था कि 1000 दिन में जिन 18,000 गांवों में बिजली नहीं पहुंची है, वहां बिजली दे देगें। हमने 1000 दिन से पहले ही देश के सभी गांवों में बिजली पहुंचा दी। गरीब के घर बिजली पहुंचाने का काम पहले की सरकार भी कर सकती थी, लेकिन सब अपने-अपने कुनबे का भला करने में जुटे थे।