मोदी बोले-अब पता चला शरद ने क्यों छोड़ा मैदान

पीएम का कांग्रेस पर हमला - नामदार पूरे समाज को गाली देने में जुट

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के माढा से चुनावी सभा को संबोधित किया है। मोदी ने अपने संबोधन की शुरुवात बीती रात तूफ़ान और बारिश के कहर से हुई मौतों पर संवेदना जता कर की। मंच से पीएम ने भरे स्वर में कहा- महाराष्ट्र, गुजरात और अन्य कुछ राज्यों में कल आए तुफान में कई लोगों की मृत्यु हुई है। किसानों की फसलों का भी नुकसान हुआ है।

पीएम इन माढा                            जिन्होंने अपने स्वजन खोये हैं उन परिवारों के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं। मैंने अफसरों से कहा है कि आम जन को जल्द से जल्द सहायता पहुंचाई जाए। कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे शरद पवार पर हमला करते हुए पीएम ने कहा कि जो लोग दिल्ली में एयर कंडीशन कमरों में बैठकर कयास लगाते हैं उन लोगों को धरती की सच्चाई पता ही नहीं है। अब समझ आया कि शरद पवार ने मैदान क्यों छोड़ दिया।

शरद पवार भी खिलाड़ी हैं, वो हवा का रुख जान लेते हैं। वो अपना नुकसान कभी नहीं होने देते। पीएम ने कहा कि एक मजबूत और संवेदनशील सरकार का मतलब क्या होता है? छत्रपति शिवाजी महाराज की ये धरती बहुत अच्छी तरह जानती है। भारत को 21वीं सदी में नई ऊंचाई पर पहुंचाने में केंद्र में ऐसी ही मजबूत सरकार चाहिए। इतना बड़ा देश चलाना है तो मजबूत नेता होना जरूरी है। पिछले चुनाव में मिली जीत का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि आपने 2014 में मुझे जो पूर्ण बहुमत दिया, उसने मुझे ऐसी ताकत दी जिससे में बड़े से बड़े फैसला ले पाया, और गरीबों के कल्याण के लिए भी में कई फैसले ले पाया। आज दुनिया के शक्तिशाली राष्ट्र भी भारत के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर चलने में गर्व अनुभव करते हैं।

पीएम इन माढाजो भी मोदी सब चोर
पीएम मोदी ने चौकीदार चोर है के राहुल गांधी के नारे पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस और उसके साथी कहते हैं कि समाज में जो भी मोदी हैं वो सब चोर हैं। पिछड़ा होने की वजह से कांग्रेस और उसके साथियों ने मेरी जातियां बताने वाली गालियां देने में कोई कमी नहीं रखी। इस बार तो उन्होंने हद पार करते हुए पूरे पिछड़े समाज को ही गाली दी है। कांग्रेस के नामदार पूरे समाज को गाली देने में जुट गए हैं। नामदार ने पहले चौकीदारों को चोर कहा और जब सारे चौकीदार मैदान में आएं, तो हर हिंदुस्तानी चौकीदार कहने लगा तो उनके मुंह पर ताला लग गया। अब मुंह छिपाते घूम रहे हैं।

परिवार से सीखा और ली प्रेरणा
मोदी ने अपने संबोधन में परिवार व्यवस्था और देश के वीर सपूतों से प्रेरणा की बात कही। उन्होंने कहा कि परिवार व्यवस्था भारत की ताकत है, देश का गौरव है। मोदी जो आज जिंदगी जी रहा है उसने भी परिवारों से ही प्रेरणा ली है। भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, महात्मा फुले, बाबा साहेब, सरदार पटेल, वीर सावरकर इन सबका विस्तृत परिवार था। यही परिवार हमारी प्रेरणा है।