पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा – ‘टाइगर जिंदा है’

International Tiger Day पर मोदी कर रहे थे संबोधित

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को घोषणा की कि भारत में बाघों की संख्या 2014 में 2,226 से बढ़कर 2018 में 2,967 हो गई है। मोदी ने दिल्ली में ऑल इंडिया टाइगर एस्टिमेशन के चौथे चरण के परिणाम जारी किए। उन्होंने कहा, “घोषित बाघ जनगणना के परिणाम हर भारतीय, हर प्रकृति प्रेमी को खुश करेंगे।” “नौ साल पहले, सेंट पीटर्सबर्ग में यह निर्णय लिया गया था कि बाघों की आबादी को दोगुना करने का लक्ष्य 2022 होगा। हमने भारत में यह लक्ष्य चार साल पहले पूरा किया था।”


इंडिया टाइगर एस्टिमेट 2010 के अनुसार, 2010 में बाघों की आबादी का अनुमान 1,706 था, जबकि 2006 में यह 1,411 था। संरक्षण के प्रयासों के बाद, धारीदार बिल्लियों की आबादी 2014 में बढ़कर 2,226 और 2018 में 2,967 हो गई। मोदी ने कहा कि लक्ष्य हासिल करने के लिए विभिन्न हितधारकों ने जिस गति और समर्पण के साथ काम किया वो वाकई सराहनीय है। पीएम मोदी ने ज़ोर देकर कहा कि लगभग 3,000 बाघों के साथ, भारत दुनिया में सबसे बड़ा और सबसे सुरक्षित देश में से एक है। पर्यावरण और विकास के मुद्दे पर चल रहे संघर्ष पर टिप्पणी करते हुए मोदी ने कहा “मुझे लगता है कि विकास और पर्यावरण के बीच एक स्वस्थ संतुलन बनाना संभव है। हमारी नीतियों में, हमारी अर्थशास्त्र में, हमें संरक्षण के बारे में बातचीत को बदलना होगा।”

“जब मोदी ने कहा टाइगर ज़िंदा है”
मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कहा – कभी ‘एक था टाइगर’ का डर था, लेकिन आज यह यात्रा ‘टाइगर जिंदा है’ तक पहुंच चुकी है। लेकिन ‘टाइगर जिंदा है’ कहना ही पर्याप्त नहीं है, हमें उनकी संख्या बढ़ाने के लिए अनुकूल वातावरण भी तैयार करना है।