आप किसी के कंधे का इस्तेमाल नहीं कर सकते : सुप्रीम कोर्ट

बी.एस. येदियुरप्पा और डी.के.शिवकुमार के खिलाफ बंद फ़ाइल खोलने का मामला

नई दिल्ली (IANS)| प्रधान न्यायाधीश एस.ए. बोबडे ने मंगलवार को एक एनजीओ के लोकस स्टैंडाई पर सवाल उठाया। इस एनजीओ का प्रतिनिधित्व करने वाले वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण एक मामले में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा और वरिष्ठ कांग्रेस नेता डी.के.शिवकुमार के खिलाफ बंद हो चुके भ्रष्टाचार के मामले को फिर से खोलने की मांग कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को वकील प्रशांत भूषण से कहा, “आप किसी के कंधे का इस्तेमाल नहीं कर सकते।” प्रशांत भूषण, एनजीओ समाज परिवर्तन समुदाय की तरफ से पेश हो रहे हैं। एनजीओ ने येदियुरप्पा व शिवकुमार के खिलाफ एक भूमि की अधिसूचना रद्द करने के मामले को फिर से खोलने की मांग की है।

प्रधान न्यायाधीश एस.ए.बोबडे ने प्रशांत भूषण से कहा, “हमें दिखाएं कि लोकायुक्त के समक्ष आपकी शिकायत में क्या हुआ।” इस पीठ की अगुवाई प्रधान न्यायाधीश कर रहे हैं और इसमें न्यायमूर्ति बी.आर.गवई और सूर्यकांत भी शामिल हैं। पीठ ने भूषण से कहा कि अगर उन्होंने शिकायत दर्ज कराई है तो दिखाएं। मामले को दो हफ्ते के लिए स्थगित कर दिया गया। मुवक्किल के शिकायत के घटनाक्रम को बताते हुए भूषण ने कहा कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री के समक्ष एक रिप्रजेंटेशन प्रस्तुत किया था।

प्रधान न्यायाधीश ने हस्तक्षेप करते हुए कहा, “मुख्यमंत्री को आप का रिप्रजेंटेशन शिकायत नहीं है। प्रतिवादी के वकील ने कहा कि यह रिप्रजेंटेशन हाई कोर्ट के आदेश के बाद दिया गया, जिसने लोकायुक्त के आरोपपत्र को खारिज कर दिया था।” प्रधान न्यायाधीश ने कहा, “आप को आपके मामले में क्या हुआ यह बिल्कुल स्पष्ट नहीं है.. और हम अपकी भूमिका के बारे में नहीं पूछ रहे हैं। हम जानना चाहते हैं कि लोकायुक्त ने आपकी शिकायत पर क्या किया, आप किसी अन्य की शिकायत का सहारा नहीं ले सकते।”

संबंधित पोस्ट

सीएए, एनपीआर पर आदेश पारित करने से सुप्रीम कोर्ट का इंकार

इलेक्टोरल बांड स्कीम पर तत्काल रोक से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

मुशर्रफ की मुश्किलें बढ़ीं, मौत की सजा के खिलाफ सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

कलबुर्गी हत्या मामले की सुप्रीम कोर्ट ने बंद करायी निगरानी

राजद्रोह मामले में सुप्रीम कोर्ट पहुंचे मुशर्रफ

एससी ने निर्भया के दोषियों की क्यूरेटिव पिटिशन को निराधार बताया, खारिज

वाडिया ने रतन टाटा के खिलाफ अवमानना का मामला लिया वापस

मिस्त्री को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने एनसीएलएटी के आदेश पर लगाई रोक

जम्मू-कश्मीर में पाबंदियों की सप्ताह भर के अंदर समीक्षा की जाए : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट हिंसा रुकने के बाद ही सीएए की वैधता तय करेगा

कर्नाटक के अयोग्य विधायकों को मिली राहत

राजधानी रायपुर में होगी “पटनायक कमेटी” की दूसरी बैठक