सदफ, दारापुरी जेल से रिहा, संघर्ष जारी रखेंगे

लखनऊ। सामाजिक कार्यकर्ता सदफ जाफर और सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी एस आर दारापुरी को मंगलवार की सुबह लखनऊ जिला जेल से रिहा किया गया। दोनों को 19 दिसंबर को नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के संबंध में गिरफ्तार किया गया था। अदालत ने उन्हें शनिवार को ही जमानत दे दी थी, लेकिन कुछ औपचारिकताओं के कारण उनकी रिहाई में देरी हुई।

जेल से रिहा होने के बाद दोनों कार्यकर्ताओं ने कहा कि वे अन्याय के खिलाफ आवाज उठाते रहेंगे और सीएए के खिलाफ उनका संघर्ष जारी रहेगा।

उन्होंने शांतिपूर्ण विरोध को सांप्रदायिक रंग देने और निर्दोष व्यक्तियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस को दोषी ठहराया।

जाफर ने कहा, “मेरा एकमात्र डर यही था कि मैं एक अकेली मां के रूप में मेरे छोटे बच्चों से दूर रही। मैं पुलिस द्वारा क्रूरतापूर्वक मारपीट करने से भी आशंकित थी। अब मेरे दोनों डर खत्म हो गए हैं। योगी सरकार ने पूरा डर निकाल दिया।”

उन्होंने कहा कि जिस तरह से कांग्रेस ने उनके बच्चों की देखभाल की है, वह खुश हैं।

सदफ ने सीए विरोधी प्रदर्शन के दौरान लखनऊ में हुई हिंसा के लिए पुलिस को दोषी ठहराया और कहा कि विरोध के दौरान सभी पुलिस स्टेशन ब्लैक होल में बदल गए।

उन्होंने कहा, “मुझे गिरफ्तार किया गया और पुलिस द्वारा बेरहमी से पीटा गया था। मुझे पेट में मारा गया और पुरुष पुलिस अधिकारी द्वारा मेरे बाल खींचे गए।”

दारापुरी ने भी सदफ और अन्य निर्दोषों के खिलाफ पुलिस के कथित अत्याचारों की निंदा की।

उन्होंने कहा, “जो गिरफ्तार किए गए लोग हिंसा में लिप्त थे, पुलिस को उनसे संबंधित सबूत और वीडियो पेश करने चाहिए।”

पूर्व आईपीएस अफसर दारापुरी ने कहा कि उन्होंने 32 वर्षों तक एक पुलिस अधिकारी के रूप में काम किया है, लेकिन इतनी क्रूरता कभी नहीं देखी।

उन्होंने कहा, “सरकार लोगों की आवाज को दबा नहीं सकती है। सीएए असंवैधानिक है। हम संशोधित नागरिकता कानून का विरोध जारी रखेंगे।”

संबंधित पोस्ट

उत्तर प्रदेश में ‘तानाजी’ टैक्स फ्री

सीएए के खिलाफ रणनीति बनाएंगे विपक्ष दल

सीएए पर अफवाहों को हवा दे रहे कुछ राजनीतिक दल : मोदी

देश के मुसलमानों के लिए हिन्दुस्तान से सुरक्षित जगह कोई नहीं : नकवी

सीएए देशहित में नहीं, राज्य में इसे लागू नहीं होने देंगे : कमलनाथ

सुप्रीम कोर्ट हिंसा रुकने के बाद ही सीएए की वैधता तय करेगा

सीएए पर कांग्रेस की बैठक में शामिल नहीं होंगी ममता बनर्जी

मोटी मेहनताने से बेटी की शादी कराऊंगा – पवन

भाजपा के हनी ट्रैप में 52, 72, 000

जामिया में सोमवार से शुरू होगी पढ़ाई

उप्र के झांसी में स्टोन क्रैशर की दीवार ढही, 5 मजदूरों की मौत, 10 घायल

दया बाई के सांचे में खुद को ढालने में जुटी बिदिता बाग