भारत में विकसित एलसीए की आईएनएस विक्रमादित्य पर सुरक्षित लैंडिंग

नई दिल्ली। भारत में डिजायन किए गए और विकसित किए गए हल्के युद्धक विमान (एलसीए) ने शनिवार को देश के सबसे बड़े युद्धक जहाज आईएनएस विक्रमादित्य पर सुरक्षित अरेस्टेड लैंडिंग की। कमोडोर जयदीप माओलांकर ने यह पहली लैंडिंग की।

भारतीय नौसेना के प्रवक्ता विवेक माधवल ने आईएएनएस से कहा, “इस कदम के साथ ही डेक (जहाज की छत) आधारित फाइटर अभियानों के लिए विशेष स्वदेशी विकसित तकनीक सिद्ध हो गई है।”

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही भारतीय नौसेना के लिए ट्विन इंजन डेक आधारित फाइटर को विकसित करने और उसका निर्माण करने का रास्ता साफ हो जाएगा।

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने हालांकि एक बयान में कहा कि डीआरडीओ के एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी की तटीय परीक्षण इकाई पर विस्तृत परीक्षण करने के बाद एलसीए नेवी को विकसित किया गया।

डीआरडीओ ने एक बयान में कहा, “एलसीए नेवी ने आज 11 जनवरी 2020 को सुबह 10.02 बजे आईएनएस विक्रमादित्य पर सफल अरेस्टेड लैंडिंग की।”