नहीं है चीप वाला डेबिट कार्ड तो तुरंत जाएं बैंक, ये है वज़ह

31 दिसंबर के बाद नहीं चलेंगे मैजिस्ट्रिप (मैग्नेटिक) डेबिट कार्ड

नई दिल्ली / रायपुर। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया समेत तमाम बैंकों ने अपने ग्राहकों को इस बात के लिए सूचित किया है कि वे अपने पुराने मैजिस्ट्रिप डेबिट कार्ड कुछ जल्द ही बदलवा लें। क्योंकि 31 दिसंबर 2018 से ये डेबिट कार्ड बंद हो जाएंगे। लिहाजा असुविधा से बचने के लिए सबहीं बैंकों ने अपने ग्राहको को सुचना ज़ारी कर दी है।आरबीआई के मुताबिक सभी बैंकों को उनसे अपने मैजिस्ट्रिप यानी मैग्नेटिक डेबिट कार्ड को ईएमवी चीप डेबिट कार्ड में बदलने काफी पहले ही लिख चुका था। जिसके बाद से ही सभी बैंकों ने अपने अपने ग्राहकों से मैग्नेटिक डेबिट कार्ड वापस लेकर, उन्हें ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड देने की शुरुआत कर दी थी। अधिकतर बैंकों में कार्ड बदलने का काम 40 से 50 सीसी पूरा हो चुका है। लेकिन आरबीआई की गाइडलाइन के मुताबिक 31 दिसंबर 2018 के बाद ऐसे कार्ड एटीएम में एक्सेप्ट नहीं किया जाएंगे। साथ ही यह कार्ड किसी भी स्वाइप मशीन में भी काम नहीं आएंगे। या यूं कहें कि मैग्नेटिक कार्ड काम करना ही बंद कर देंगे। ऐसे में मैग्नेटिक कार्ड चला रहे ग्राहकों के लिए काफी परेशानी होगी। साथ ही कार्ड को बदलने के लिए भी उन्हें भारी भीड़ का सामना भी करना पड़ सकता है। लिहाजा समय रहते अपने डेबिट कार्ड को अपने बैंक में जाकर ईएमवी चिप वाला कार्ड आप सभी ले सकते हैं।

हैकिंग रोंकने बनाया ईएमवी चीप कार्ड

बैंकिग क्षेत्र से जुड़े लोगो की मानें तो ईएमवी चीप कार्ड हैकिंग और ऑनलाइन फ्रॉड रोकने में कारगर साबित होती है। चीप वाले कार्ड पर एक छोटी चीप होती है, जिसमें पूरी अकाउंट डिटेल अपडेट रहती है। इस कार्ड से ट्रांजैक्शन के दौरान को वैरिफाई करने यूनिक ट्रांजेक्शन कोड जनरेट होता है। जो उनकी सेफ्टी के लिए होता है। मगर मैग्नेटिक कार्ड में ऐसा कको सिक्योरिटी सिस्टम नहीं है।