महाराष्ट्र में शिव “सेना सरकार” कांग्रेस राकांपा का मिला समर्थन

राज्यपाल से मिले एकनाथ शिंदे और आदित्य ठाकरे

मुंबई। शिवसेना शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस के समर्थन से महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए तैयार है। यह उभरने के तुरंत बाद सफलता मिली कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से बात की क्योंकि दोनों वैचारिक रूप से बेमेल पार्टियों ने सहयोग करने के लिए अपने मतभेदों को दूर करने की कोशिश की है। सेना कांग्रेस के गठबंधन में शरद पवार ने अहम किरदार निभाया है। ये एलाएंस भारत के सबसे बड़े राज्यों में से एक की सबसे बढ़ा गठबंधन के रूप में सामने आया है। शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में अपने अकेले मंत्री अरविंद सावंत को भी इस्तीफा देने के साथ ही भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के साथ पार्टी के संबंधों को अलग कर लिया है।

इधर कांग्रेस के समर्थन के बाद शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे और आदित्य ठाकरे राजभवन पहुँच चुके है। राज्यपाल बी एस कोश्यारी से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र में सरकार बनाने का दावा करेंगे। शिवसेना के सूत्रों ने कहा, “सरकार बनाने की हमारी इच्छा और क्षमता को व्यक्त करने के राज्यपाल के निमंत्रण के अनुसार, हम इसका सकारात्मक जवाब दे रहे हैं।”