मंदी में सीतारमण का रामबाण, कॉर्पोरेट टैक्स में दी छूट

कैपिटल गेन पर कोई सर चार्ज नहीं लेने का भी किया ऐलान

नई दिल्ली। लगातार मंदी की मार से झेल रही भारतीय अर्थव्यवस्था में रिचार्ज करने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज कई ऐलान किए है। निर्मला सीतारमण ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक के बाद एक कई बड़ी घोषणाएँ की है। सीतारमण ने सबसे पहले कॉरपोरेट टैक्स में कटौती की घोषणा की। जिसे वित्त मंत्रालय की ओर से एक अध्यादेश लाकर घरेलू कंपनियों, नई स्थानीय विनिर्माण कंपनियों के लिए कॉर्पोरेट टैक्स कम करने का प्रस्ताव दिया गया है।

जिसका सीधा असर आज सेंसेक्स में दिखाई दिया। वित्त मंत्री के इस ऐलान के साथ ही सेंसेक्स में 1900 से ज्यादा का उछाल देखा गया है। वहीं भारतीय अर्थव्यवस्था में और तेजी लाने वित्त मंत्री ने कहा कि घरेलू कंपनी को किसी प्रोत्साहन का लाभ नहीं ले, तो उन्हें 22% की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प दिया गया है, और जो कंपनियां 22% की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प चुन रही है। उन्हें न्यूनतम वैकल्पिक कर का भुगतान करने की जरूरत नहीं होगी।

नहीं लिया जाएगा सरचार्ज
वित्त मंत्री ने कहा कि सिक्योरिटी के तहत किसी भी डेरिवेटिव को एफबीआई के हाथों बेचने पर कैपिटल गेन पर कोई सर चार्ज नहीं लिया जाएगा। गौर करने वाली बात यह है कि इस सर चार्ज का ऐलान भी इसी साल जुलाई के बजट में निर्मला सीतारमण ने ही किया था। इसके साथ ही उन कंपनियों को जो इंसेंटिव और छूट का लाभ उठा रही है, उनके लिए भी मिनिमम अल्टरनेट टैक्स यानी मैट 18.5 फ़ीसदी से कम कर 15 फीसदी तक कर दिया गया है।