तो मैं हमेशा के लिए जलेबी छोड़ सकता हूं…

भाजपा सांसद गौतम गंभीर का फूटा गुस्सा

नई दिल्ली। पूर्वी दिल्ली के भाजपा सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर के इंदौर में जलेबी खाने से शुरू हुआ विवाद थम नहीं रहा है। गंभीर अब पोस्टर लगाए जाने पर आम आदमी पार्टी और केजरीवाल पर जमकर बरसे। पत्रकारों का सवाल का जबाव देते वे कहते हैं – मेरे जलेबी खाने से अगर दिल्ली का प्रदूषण कम हो सकता है तो मैं हमेशा के लिए जलेबी छोड़ सकता हूं। और एक बात 5 महीने में मैंने प्रदूषण खत्म करने के लिए दिल्ली में बहुत काम किए है। मेरी भी बच्ची है और मैं भी प्रदूषण के खिलाफ संवेदनशील और जागरूक हूं। दिल्ली की जनता भी जागरूक है। आप आम आदमी पार्टी से पूछें अरविंद केजरी वाल से पूछें कि पिछले 5 माह में उन्होंने ऐसी क्या चीज खरीदी है जिससे प्रदूषण को कंट्रोल में किया जा सकता है।

गंभीर बैठक में नहीं जाने के सवाल पर कहते हैं बैठक में जाना जरूरी है या काम पर जाना। मैंने 5 महीने के काम गिनाए हैं अब उनसे 5 साल के काम भी गिनाएं न। मैं बैठक में इसलिए नहीं गया क्योंकि मुझे 11 को यह पत्र मिला लेकिन मेरा कांट्रैक्ट हो चुका था और मैंने 11 को ही मेल कर दिया था कि मैं बैठक में नहीं आऊंगा।ऐसा नहीं कि बैठक के दिन 13 नवंबर को ही मैंने पत्र लिखा। मेरे काम को देखिए 10 मिनट में ही आपने ट्रोल करना शुरू कर दिया अगर पोस्टर लगाने की इतनी मेहनत दिल्ली की प्रदूषण को खत्म करने की होती तो हम राहत की सांस ले पाते, यह नौबत नहीं आती।

ज्ञात हो कि ताजा मामले में गंभीर का आइटीओ इलाके में लापता होने का पोस्टर लगाया गया है। पेड़ों पर लगे पोस्टर में लिखा गया है कि ‘क्या आपने इन्हें देखा है? आखिरी बार इंदौर में जलेबी खाते हुए देखा गया था, पूर्वी दिल्ली इन्हें ढूढ़ रही है।’ गौतम गंभीर का पोस्टर पेड़ों पर किसने चिपकाया है इसके बारे में पोस्टर में कुछ नहीं लिखा गया है। बता दें कि शनिवार को आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जलेबी और गौतम गंभीर की तस्वीरों को लेकर प्रदर्शन किया था। उनका कहना था कि दिल्ली में प्रदूषण को लेकर संसदीय कमेटी की बैठक में गंभीर शामिल होने के बजाय इंदौर में जलेबी खा रहे थे।