जामिया में सोमवार से शुरू होगी पढ़ाई

नई दिल्ली। जामिया मिल्लिया इस्लामिया में 22 दिनों की लंबी छुट्टी के बाद सोमवार से विश्वविद्यालय में पढ़ाई शुरू हो जाएगी। इसके तीन दिन बाद ही जामिया विश्वविद्यालय में नौ जनवरी से परीक्षाएं भी शुरू होंगी। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ 15 दिसंबर की रात को यहां हुए प्रदर्शन के दौरान हिंसा हुई थी। हिंसा व प्रदर्शन के बाद विश्वविद्यालय को बंद कर दिया गया था। विश्वविद्यालय प्रशासन ने यूनिवर्सिटी ने 5 जनवरी तक छुट्टी की घोषणा की थी। इस दौरान विश्वविद्यालय को परीक्षाएं भी टालती पड़ी थी।

जामिया विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी अजीम अहमद के मुताबिक, छात्रों को सलाह दी गई है कि वे सोशल मीडिया पर भ्रामक सूचना या किसी अफवाह से बचने और सही जानकारी हासिल करने के लिए नियमित रूप से विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट से सही जानकारियां लेते रहें।

विश्वविद्यालय का कहना है कि गंभीर रूप से बीमार और चिकित्सा लाभ ले रहे छात्रों के मामलों को अलग से देखा जाएगा। विश्वविद्यालय प्रशासन के अनुसार, सभी संकायों और केंद्रों में अगले सेमेस्टर के लिए पढ़ाई शुरू होने की तारीख की घोषणा भी जल्द की जाएगी।

यूनिवर्सिटी ने बताया कि पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स की बची हुई सेमेस्टर परीक्षाएं नौ जनवरी से शुरू होंगी। स्नातक पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं 16 जनवरी से शुरू होंगी। विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों को सलाह दी है कि वे वेबसाइट पर बताई गई परीक्षा की तय तिथि के अनुसार ही विश्वविद्यालय आएं।

विश्वविद्यालय ने अभिभावकों से भी अनुरोध है कि वे यह सुनिश्चित करें कि उनके बच्चे परीक्षा के लिए आएं और तय कार्यक्रम के अनुसार अपनी कक्षाओं में पढ़ाई शुरू करें।

संबंधित पोस्ट

सीएए के खिलाफ रणनीति बनाएंगे विपक्ष दल

सीएए पर अफवाहों को हवा दे रहे कुछ राजनीतिक दल : मोदी

देश के मुसलमानों के लिए हिन्दुस्तान से सुरक्षित जगह कोई नहीं : नकवी

सीएए देशहित में नहीं, राज्य में इसे लागू नहीं होने देंगे : कमलनाथ

सुप्रीम कोर्ट हिंसा रुकने के बाद ही सीएए की वैधता तय करेगा

सीएए पर कांग्रेस की बैठक में शामिल नहीं होंगी ममता बनर्जी

सदफ, दारापुरी जेल से रिहा, संघर्ष जारी रखेंगे

भाजपा के हनी ट्रैप में 52, 72, 000

भागवत इंदौर पहुंचे, संघ की बैठक में भाजपा नेता भी लेंगे हिस्सा

मोदी ने सीएए के समर्थन में ट्विटर अभियान शुरू किया

CAA और NRC के खिलाफ कांग्रेस का शांतिमार्च, सीएम बोले-मप्र में लागू नहीं होने देंगे

संसद ने दलितों, शोषितों के लिए पारित किया है सीएए : मोदी