तमिलनाडु चुनाव : मोदी ने मदुरै में द्रमुक-कांग्रेस पर साधा निशाना

जल संरक्षण के विचार पर दिया जोर

चेन्नई |प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को चुनावी सभा में द्रमुक और कांग्रेस पर मदुरै के लोगों के स्वभाव को समझने में विफल होने का आरोप लगाया है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि 2016 के कांग्रेस के घोषणापत्र में ‘जल्लीकट्टू’ पर प्रतिबंध लगाने का वादा किया गया था। उन्होंने मदुरै में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के लिए एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करते हुए यह बात कही।

मोदी ने कहा, “द्रमुक और कांग्रेस को खुद पर शर्म आनी चाहिए। लोग एक समाधान चाहते थे और चाहते थे कि जल्लीकट्टू जारी रहे। हमारी सरकार ने तब अन्नाद्रमुक द्वारा अध्यादेश को मंजूरी दे दी थी, जिसने इसे लागू करने की अनुमति दी।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि खाद्य प्रसंस्करण भाजपा और राजग के लिए एक प्रमुख क्षेत्र हैं। उन्होंने यह भी कहा कि नए स्टार्टअप को भारत सरकार द्वारा बढ़ावा दिया जा रहा है।

उन्होंने जल संरक्षण के विचार पर जोर दिया और कहा, “हम ‘प्रति बूंद अधिक फसल’ के विचार पर काम कर रहे हैं और किसानों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि अधिक पानी की बचत हो और कृषि उत्पादन बढ़े।”

उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने 2024 तक देश के हर घर में नल का पानी सुनिश्चित करने के लिए ‘जल जीवन मिशन’ लागू किया है।

मोदी ने कहा, “तमिलनाडु में मिशन की शुरुआत के बाद से 16 लाख नल जल कनेक्शन प्रदान किए गए हैं।”

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि मदुरै के लोग बहुत मेहमाननवाजी करते हैं। मोदी ने कहा कि दशकों पहले गुजरात के सौराष्ट्र से यहां पर सैकड़ों लोग आए थे, मदुरै के लोगों ने उनका दिल से स्वागत किया और यहां पर जगह दी। मदुरै एक भारत-श्रेष्ठ भारत को दर्शाता है।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के लिए रेलवे के बुनियादी ढांचे के लिए आवंटित धन 2019 की तुलना में 238 प्रतिशत बढ़ गया है।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी और उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम भी उपस्थित रहे।

–आईएएनएस