बाबर रोड के बोर्ड में हिन्दू सेना ने पोती कालिख…बताई ये वज़ह

देश की राजधानी दिल्ली का है हाई सिक्योरिटी ज़ोन

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली के हाई सिक्योरिटी ज़ोन में “बाबर रोड” के लिए लगे एक साइनबोर्ड पर आज कालिख पोत दी गई। ये कालिख़ हिंदू सेना के सदस्यों द्वारा पोती गई है। उन्होंने बाबर रोड का नाम बदलने की वकालत की है। दिल्ली के प्रतिष्ठित कनॉट प्लेस के करीब बाबर रोड का नाम भारत में मुगल वंश के पहले सम्राट के नाम पर रखा गया था।

जिसे हिंदू सेना ने बदलने की मांग रखी है। सेना के सदस्यों ने कहा कि इसका नाम बदलकर भारत के किसी भी महान व्यक्तित्व के नाम पर रखा जाए। हिंदू सेना के अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने कहा कि हम मांग करते हैं कि सरकार सड़क का नाम बदलकर देश के किसी महान हस्ती के नाम में किया जाए। अगर नाम नहीं बदला गया तो सेना उग्र प्रदर्शन के लिए तैयार है।

अकबर रोड पर लग चूका पोस्टर
पिछले साल दिल्ली के अकबर रोड, देश की राजधानी में सबसे लुभावनी, पेड़-पौधों वाली सड़कों में से एक थी, जिसका एक दफ़े रातोरात नामकरण किया जा चूका है। अकबररोड के साइनबोर्ड को रातोंरात “महाराणा प्रताप रोड” के साथ कवर कर दिया गया था। ये पोस्टर पीले और गुलाबी रंग के थे जिसे बाद में पुलिस की निगरानी में हटा दिया गया था।

कांग्रेस पार्टी के मुख्यालय समेत दिग्गजों के घर
मुगल सम्राट अकबर, बाबर के बेटे के नाम पर बनी इस सड़क में देश के कुछ शीर्ष राजनेताओं का घर है। इसके आलावा देश की दूसरी सबसे बड़ी राजनैतिक
दल कांग्रेस का मुख्यालय भी है। 2015 में अकबर के पोते औरंगजेब के नाम पर भी एक सड़क थी जिसे बदलकर डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम रोड बनाया गया।वही प्रधानमंत्री की सड़क, रेस कोर्स रोड का नाम बदलकर लोक कल्याण मार्ग कर दिया गया था।