चुनाव से पहले सोशल मीडिया से हटाए 909 पोस्ट ये है वज़ह

लोकसभा चुनाव से पहले सोशल मीडिया से हटाएँ गए है पोस्ट

नई दिल्ली। फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप सहित सोशल मीडिया प्लेटफार्मों ने चुनाव आयोग (EC) के निर्देशों के बाद लोकसभा चुनाव के दौरान कुल 909 पोस्ट को हटा दिया है। अकेले फेसबुक ने 650 पोस्ट को हटाया है। इसके बाद Twitter (220), ShareChat (31), YouTube (5) और WhatsApp ने (3) पोस्टों को हटाया है।

                           चुनाव आयोग के महानिदेशक (संचार) धीरेंद्र ओझा ने इस बात की जानकारी मीडिया से चर्चा के दौरान साझा की है। ओझा ने बताया कि फेसबुक द्वारा लिए गए 650 पोस्टों में से 482 “साइलेंट पीरियड” के दौरान पोस्ट किए गए राजनीतिक संदेश वाले पोस्ट थे। उन्होंने बताया कि सातवें चरण में मतदान के समापन के लिए निर्धारित समय से 48 घंटे पहले “साइलेंट पीरियड” शुरू होता है। उन्होंने बताया कि सातवें चरण का मतदान रविवार शाम 6 बजे बंद हुआ, जिसके लिए शुक्रवार को शाम 6 बजे प्रचार थम गया था।

मतदाताओं को बरगलाने वाले भी थे पोस्ट
ओझा ने बताया कि प्रचार थमने के बाद कुछ 73 पोस्ट सोशल मीडिया में राजनीतिक विज्ञापन के थे।इसमें दो आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का भी मामला था। इसके बाद 43 मतदाता को गलत सूचना से संबंधित पोस्ट सोशल मीडिया पर थे। इसके साथ ही 28 पोस्ट को शालीनता की सीमा को पार करने वाले के रूप में करार दिया गया था।

पेड़ न्यूज़ वाली पोस्ट पर चली कैची
ओझा ने कहा कि एग्जिट पोल और नफरत भरे भाषण वाले भी 11 पोस्ट मिले। उन्होंने कहा कि पेड न्यूज में 647 पुष्ट मामले भी थे, जिनमें से पहले चरण में ही अधिकतम 342 की रिपोर्ट की गई थी। ओझा ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान, 1,297 सशुल्क समाचारों की पुष्टि की गई थी।