इस राज्य की होगी तीन राजधानी, 5 उपमुख्यमंत्री

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी का ऐलान

नई दिल्ली। आंध्रप्रदेश देश का इकलौता राज्य होगा जिसकी 3 राजधानियां होंगी और पांच उपमुख्यमंत्री होंगे। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने विधानसभा में इसका ऐलान करते कहा कि ‘हमारे पास तीन अलग-अलग राजधानियां हो सकती हैं। दक्षिण अफ्रीका की तीन राजधानियां हैं। उनकी आवश्यकता है। हमें इन पर गंभीरता से सोचना है। फिलहाल तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की ज्वाइंट राजधानी हैदराबाद के तौर पर देखी जा रही है। उल्लेखनीय है कि देश में पंजाब और हरियाणा ऐसे राज्य हैं जिनकी राजधानी एक है।

बताया गया कि इनमें से एक उत्तरी तटीय आंध्र जबकि दूसरी मध्य आंध्र और तीसरी राजधानी रायलसीमा आंध्र में होगी। रेड्डी ने कहा कि विशाखपत्तनम एग्जीक्यूटिव कैपिटल, कर्नूल को ज्यूडिशियल कैपिटल और अमरावती को लेजिस्लेटिव कैपिटल सरकार बनाएगी। इस तरह विशाखापट्टनम में सचिवालय होगा। महत्वपूर्ण विभाग के कार्यालय भी यहां होंगे. करनूल में हाईकोर्ट और अमरावती में विधानसभा होगी। इन राजधानियों को स्थापित करने के लिए प्रतिष्ठित कंसल्टेंसी फर्मों की मदद ली जाएगी।

उल्लेखनीय है कि बीते जून में आंध्र प्रदेश में तेलुगू देशम पार्टी को सत्ता से बेदखल करने के बाद जगन मोहन रेड्डी की अगुवाई में बनी वाएसआर कांग्रेस की सरकार में पांच उप-मुख्यमंत्री बनाए जाने का फैसला किया गया। ताकि सभी जातियों का सत्ता में संतुलन बनाया जा सके। इनमें अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और कापू समुदायों से एक-एक उपमुख्यमंत्री होंगे।