इराक में अमेरिकी हवाई हमले में शीर्ष ईरानी कमांडर की मौत

तेहरान। ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आईआरजीसी) कुद्स फोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी इराक की राजधानी बगदाद में अमेरिकी हवाई हमले में मारे गए। तेहरान स्थित प्रेस टीवी के मुताबिक, आईआरजीसी ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि हमले में हशद शाबी या इराकी पॉपुलर मोबलाइजेशन फोर्सेज (पीएमएफ) के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस भी सुलेमानी के साथ मारे गए। बगदाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट रोड पर उनके वाहन को निशाना बनाया गया।

पीएमएफ ने भी घटना की पुष्टि की है, और शुक्रवार को एक बयान में कहा, “हशद के उप प्रमुख, अबू महदी अल-मुहांदिस, और कुद्स फोर्स के प्रमुख, कासिम सुलेमानी अमेरिकी हमले में मारे गए। उनकी कार को निशाना बनाया गया।”

इससे पहले समूह ने कहा था कि उसके जनसंपर्क निदेशक मोहम्मद रजा अल-जबेरी और चार अन्य सदस्यों की भी मौत हो गई है, जब शुक्रवार को बगदाद हवाईअड्डे के बगल में स्थित सैन्य ठिकाने पर तीन कत्यूशा रॉकेटों से हमला किया गया।

इस बीच, पेंटागन ने कहा कि सुलेमानी को अमेरिकी राष्ट्रपति के निर्देश पर मारा गया।

बीबीसी ने पेंटागन के एक बयान के हवाले से कहा, “अमेरिकी राष्ट्रपति के निर्देश पर विदेश में रह रहे अमरीकी सैन्यकर्मियों की रक्षा के लिए कासिम सुलेमानी को मारने का कदम उठाया गया है।”

बयान में आगे कहा गया, “यह हवाई हमला भविष्य में ईरानी हमले की योजनाओं को रोकने के मकसद से किया गया। अमेरीका अपने नागरिकों की रक्षा के लिए, दुनियाभर में भी चाहे वे जहां भी हैं.. सभी आवश्यक कार्रवाई करना जारी रखेगा।”

बदला लेने की खामेनी ने खाई कसम

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला सैय्यद अली खामेनी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश के बाद किए गए हमले में मारे गए ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आईआरजीसी) के विशिष्ट कुद्स फोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने की कसम खा ली है। तेहरान स्थित प्रेस टीवी के अनुसार, यहां जारी एक बयान में खामेनी ने कहा, “धरती के सबसे क्रूर लोगों ने सम्मानीय कमांडर की हत्या की, जिन्होंने दुनिया की बुराइयों और डकैतों के खिलाफ साहसपूर्वक लड़ाई लड़ी।”

उन्होंने कहा, “उनके निधन से उनका मिशन नहीं रुकेगा, लेकिन जिन अपराधियों ने गुरुवार रात जनरल सुलेमानी और अन्य शहीदों के खून से अपने हाथ रंगे हैं, उन्हें जरूर एक जबरदस्त बदले, अंजाम भुगतने की प्रतीक्षा करनी चाहिए।”

खामेनी ने कहा कि जारी लड़ाई और अंतिम जीत की उपलब्धि हत्यारों और अपराधियों की जिंदगी को और दुश्वर बना देगी।

सुलेमानी के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करने के अलावा, खामेनी ने तीन दिनों का शोक भी घोषित किया।

आईआरजीसी ने कहा कि हशद शाबी या इराकी पॉपुलर मोबिलाइजेशन फोर्सेज (पीएमएफ) के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस भी सुलेमानी के साथ अमेरिकी हमले में मारे गए थे। बगदाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट रोड पर उनके वाहन को निशाना बनाया गया।

ईरानी विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने अमेरिकी हमले को बेहद खतरनाक और एक मूर्खतापूर्ण करार दिया।

संबंधित पोस्ट

Corona Update : वुहान में कोविड-19 संक्रमण का एक भी नया मामला नहीं

ईरान : कोरोनावायरस से अब तक 987 संक्रमित, 54 लोगों की मौत

ईरान : 12 मौतों के साथ कोरोनावायरस के 64 मामले

इराक : सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों व सुरक्षा बलों में झड़प, 15 घायल

ईरान में फिर से 5.7 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस

ईरान ने टेलीकॉम नेटवर्क पर साइबर हमला नाकाम किया

सुलेमानी की हत्या अमेरिका के लिए शर्म की बात : खामेनी

‘ईरान के मिसाइल हमले में 11 अमेरिकी सैनिक घायल हुए थे’

बगदाद के निकट सैन्य अड्डे पर रॉकेट हमला

यूक्रेन का विमान गिराने के आरोपों को ईरान ने किया खारिज

सुलेमानी के जनाजे में पहुंचे लाखों, भगदड़ में 35 मौतें, कई घायल

ईरान ने डोनाल्ड ट्रंप के सिर पर 8 करोड़ डॉलर का रखा इनाम