हिंसा भड़काने के लिए कपिल मिश्रा के खिलाफ दो मामले दर्ज

चांदबाग मजार के प्रदर्शनकारियों का संबंध पीएफआई से- दिल्ली पुलिस

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा के खिलाफ हिंसा भड़काने के आरोप में दो मामले दर्ज किए गए हैं। एक शिकायत आम आदमी पार्टी (आप) की कॉर्पोरेटर रेशमा नदीम और दूसरी हसीब उल हसन ने दर्ज कराई है।

दर्ज शिकायतों में कहा गया है कि विरोध के दौरान मिश्रा ने अपने भड़काऊ भाषणों से लोगों को भड़काया, जिससे अराजकता फैल गई। बहरहाल मिश्रा के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

दूसरी ओर, दिल्ली पुलिस की एक विशेष शाखा की रिपोर्ट में कहा गया है कि चांदबाग मजार में हिंसा में लिप्त और पुलिस पर गोलियां दागने वाले प्रदर्शनकारियों का संबंध पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से है।

इसमें पीएफआई के शाहीन बाग निवासी एक वरिष्ठ अधिकारी के नाम का भी उल्लेख किया गया है।

उत्तर प्रदेश में विभिन्न हिंसक घटनाओं में पीएफआई के प्रमुख अधिकारियों के खिलाफ पहले कई मामले दर्ज किए गए हैं।

(आईएएनएस)

संबंधित पोस्ट

भाजपा नेता ने तबलीगी जमात को बताया सिमी से भी खतरनाक

भाजपा का 40वां स्थापना दिवस : पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं को सौंपे 5 काम

सोनिया के आरोप का जवाब देते हुए अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधा

दिल्ली : मोहल्ला क्लीनिक का एक और डॉक्टर कोरोना पोजिटिव

भाजपा सांसद व विधायक एक माह का वेतन व भत्ते पीएम राहत कोष में देंगे

Corona Update : कोविड-19 पॉजिटिव डॉक्टर के संपर्क में आए 900 लोग क्वारंटाइन

महाभोज अभियान : रोजाना 5 करोड़ जनता को भोजन कराएगी भाजपा

दिल्ली : महिला के मुंह पर कोरोना पान-पीक थूकने वाला गिरफ्तार

खाली कराया गया शाहीन बाग, मौके पर भारी पुलिस बल तैनात

दिल्ली में मोहल्ला क्लिनिक का डॉक्टर कोरोना संक्रमित

Corona Effect : उत्तरप्रदेश में भाजपा सोशल मीडिया पर जनता को करेगी जागरूक

शाहीनबाग में देर रात प्रदर्शनकरियों के दो गुटों में हुई झड़प