वीडियो : सबरीमाला मंदिर जा रही बिंदु अम्मिनी पर हुआ हमला

कमिश्नर दफ्तर के नज़दीक मिर्ची स्प्रे से हुआ हमला

कोच्चि। केरल के कोच्चि में सबरीमाला मंदिर में यात्रा के लिए जाने वाले एक कार्यकर्ता पर पुलिस कमिश्नर के दफ्तर के बाहर मिर्ची स्प्रे से हमला किया गया। एक मोबाइल फोन के वीडियो में कार्यकर्ता बिंदू अम्मिनी पर ये हमला हुआ है, जिसमें अम्मिनी अपना चेहरा ढकते हुए और एक अज्ञात व्यक्ति स्प्रे कर वहां से भागते हुए दिखाई दे रहा है। इस हमले के बाद अम्मिनी को एक अस्पताल ले जाया गया। एक्टिविस्ट तृप्ती देसाई भी पश्चिमी घाट में बसे भगवान अयप्पा मंदिर में दर्शन के लिए आज फिर पहुंची है। देसाई सहित पाँच और महिलाएँ भी मंदिर जाने की योजना बना रही है।

देसाई ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के 2018 में सभी आयुवर्ग की महिलाओं को सबरीमला मंदिर में प्रवेश की अनुमति देने के आदेश के साथ वह यहां पहुंची है। महिला कार्यकर्ता ने कहा, ‘मैं मंदिर में पूजा करने के बाद ही केरल से जाऊंगी।’ पुणे की रहने वाली देसाई ने पिछले साल नवम्बर में भी मंदिर में दर्शन करने का एक असफल प्रयास किया था।

सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में एक ऐतिहासिक फैसले में सभी उम्र की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति दी, जिससे भक्त समूह नाराज हो गए थे। केरल सरकार ने तब वादा किया था कि यह उन महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करेगी जो करीब 5 किलोमीटर दूर पंबा में निकटतम आधार शिविर से मंदिर तक पैदल जाना चाहती है।
इस महीने की शुरुआत में, शीर्ष अदालत ने अपने 2018 के आदेश की समीक्षा करने की याचिका पर फैसला सुनाते हुए मामले को सात-न्यायाधीशों की एक बड़ी बेंच के पास भेज दिया, हालांकि यह 2018 के फैसले पर कायम नहीं रही जिसने सबरीमाला मंदिर में सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश की अनुमति दी थी। केरल सरकार अब कहती है कि वह “कार्यकर्ताओं” को सुरक्षा प्रदान नहीं करेगी जो सबरीमाला में प्रवेश करने की कोशिश करते हैं।