Video : जी-सूट पहन फाइटर प्लेन तेज़स से राजनाथ ने भरी उड़ान…

30 मिनट के सॉर्टी को बताया जीवन का शानदार अनुभव

बैंगलूर। जी-सूट पहने हुए राजनाथ सिंह ने आज सुबह बेंगलुरु में हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) तेजस में उड़ान भरी। इस उड़न के साथ ही राजनाथ भारत में बने फाइटर जेट में उड़ान भरने वाले पहले रक्षा मंत्री बन गए है। उन्होंने विमान तेजस से बेंगलुरु के एचएएल हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी। सिंह ने एयर वाइस मार्शल एन तिवारी के साथ ये उड़ान भरी। एक सफेद हेलमेट और एक ऑक्सीजन मास्क पहने हुए, रक्षा मंत्री को तेजस में 30 मिनट के सॉर्टी के लिए उड़ान भरी थी।

उड़ान ख़त्म कर लौटने के बाद राजनाथ सिंह ने कहा कि “इस उड़ान के दौरान मैं रोमांचित था। यह बहुत ही सहज और आरामदायक उड़ान थी। मैं उड़ान का आनंद ले रहा था। उन्होंने कहे कि मुझे देश के वैज्ञानिकों के साथ-साथ तेजस विमान के विकास पर काम करने वाले संगठनों पर गर्व है। आज कई अन्य देशों में तेजस की मांग है। उन्होंने कहा कि हम एक ऐसी स्थिति में पहुंच गए हैं, जिसमें हम न केवल लड़ाकू विमान निर्यात कर सकते हैं, बल्कि अन्य देशों को रक्षा उपकरण भी दे सकते हैं। यह पूछे जाने पर कि उन्होंने तेजस विमान में उड़ान भरना क्यों चुना, रक्षा मंत्री ने कहा, “यह स्वदेशी रूप से विकसित है”। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के प्रमुख डॉ जी सतीश रेड्डी ने कहा रक्षा मंत्री ने कुछ समय के लिए विमान को नियंत्रित किया।

तीन साल पहले शामिल हुआ था तेजस
गौरतलब है कि लड़ाकू विमान तेजस को 3 साल पहले ही भारतीय वायु सेना में शामिल किया गया। महज़ तीन साल में ही तेजस को और अपग्रेड किया जा रहा है। भारत में बने इस हल्के लड़ाकू विमान को HAL ने बनाया है। 83 तेजस विमानों के लिए एचएएल को 45 हजार करोड़ रुपए का ठेका दिया गया है। भारत के स्वदेशी और हल्के लड़ाकू विमान तेजस में लाईट फाइटर प्लेन होने की वज़ह से अटैक करने में बेहद स्मूथ है। भारतीय तेजस पाकिस्तान और चीन के फाइटर प्लेन को टक्कर दे रहा है।