Video : जब अमित शाह बोले कश्मीर के लिए जान दे देंगे

अधीर रंजन चौधरी पर भड़के गृहमंत्री अमित शाह

नई दिल्ली। देश के गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में मंगलवार को जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का प्रस्ताव पेश किया। इस प्रस्ताव को पेश करते ही विपक्ष ने लोकसभा में जबरदस्त हंगामा मचाया। लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कश्मीर का मामला संयुक्त राष्ट्र में लंबित है, इसलिए यह मामला अंदरूनी नहीं हो सकता। इस पर अमित शाह ने चुनौती देते हुए अधीर रंजन चौधरी को कहा कि अगर सरकार ने कोई नियम तोड़ा हो तो स्पष्ट करें और उसका तर्क भी दे।

शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर जब कहा जाता है, तो इसमें पीओके और अक्साई चीन भी शामिल है। और इसके लिए हम अपनी जान भी दे सकते है। शाह ने राज्यसभा में कहा था कि जम्मू और कश्मीर जल्दी और पांडिचेरी की तरह केंद्र शासित राज्य होंगे जहां विधानसभा रहेगी, लेकिन लद्दाख की स्थिति चंडीगढ़ की तरह होगी, जहां विधानसभा नहीं बनाई जाएगी।

शाह ने कहा कि ” इस सदन बहुत सारे ऐतिहासिक क्षण देखे हैं। मैं गर्व के साथ कहना चाहता हूं कि यह प्रस्ताव और बिल इतिहास के स्वर्णिम अक्षरों में लिखे जाएंगे। कल अनुच्छेद 370 का प्रस्ताव पास किया गया। इसमें उल्लेख किया गया है कि जम्मू कश्मीर के विधानसभा कह कर ही बुलाया जाएगा। अनुच्छेद 370 की धारा 3 के तहत राष्ट्रपति को अधिकार है कि एक नोटिफिकेशन जारी कर 370 को निष्क्रिय कर सकते हैं। शाह ने बताया के वे तभी नोटिफिकेशन जारी कर सकते है, जब जम्मू कश्मीर संविधान की अनुशंसा हो।