पंजाब में महिलाओं को घर पहुंचाएगी महिला-पीसीआर वैन

छत्तीसगढ़ के बाद पंजाब सरकार ने भी ज़ारी किए आदेश

चंडीगढ़ (IANS)| पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को पांच प्रमुख शहरों में सभी महिला पुलिस कंट्रोल रूम (पीसीआर) वैन को महिलाओं द्वारा किए गए फोन कॉल पर उन्हें सुरक्षित परिवहन सेवा उपलब्ध कराने का आदेश दिया है। इसकी शुरुआत 3 दिसंबर को की गई थी, जिसे अब विस्तृत किया जा रहा है। पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता मोहाली ने कहा कि अमृतसर, पटियाला, लुधियाना और जालंधर जैसे शहरों में महिला पुलिसकर्मी, विकट परिस्थिति में फंसी महिलाओं को एक फोन पर उनके घर और कार्यस्थल पर सुरक्षित पहुंचाएगी।

उन्होंने बताया कि महिलाओं को सुरक्षित घर छोड़ने के लिए 3 दिसंबर से लॉन्च की गई इस योजना के बाद 18 दिसंबर तक करीब 40 महिलाओं के फोन आ चुके हैं। महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध को देखते हुए मुख्यमंत्री ने रात 9 से सुबह 6 बजे तक नि:शुल्क पुलिस सेवा की शुरुआत की है।
गुप्ता ने आगे बताया कि फोन करने वाली महिलाओं तक पुलिस पेट्रोलिंग वैन को पहुंचने में कम से कम 7 मिनट का वक्त लगता है, और ज्यादा से ज्यादा 30 मिनट का वक्त लगता है, जबकि औसतन समय-सीमा 12 मिनट है। पुलिसकर्मी फोन करने वाली महिलाओं को उनके बताए स्थान पर सुरक्षित छोड़कर आती हैं। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ सरकार ने इस संबंध में पहले ही आदेश ज़ारी कर दिए थे। जिसमें डायल 112 की गाड़ियों से महिलाओं को सुरक्षित उनके गंतव्य तक पहुंचने की जिम्मेदारी सौपी गई है।