भारतीय इंजीनियरों ने सिस्को के लिए बनाया सस्ता और तेज इंटरनेट

कपंनी ने कहा, भविष्य का इंटरनेट, करोड़ों पर असर डाल सकती है

सैन फ्रांसिस्को (आईएएनएस)| अमेरिका की दिग्गज प्रौद्योगिकी कंपनी सिस्को ने एक नया उन्नत चिप और राउटर को पेश किया है, जिसके बारे में कंपनी का कहना है कि यह ‘भविष्य के इंटरनेट’ में क्रांति लाएगा। सिस्को की इस पेशकश को प्रौद्योगिकी क्षेत्र एक उपलब्धि मानी जा सकती है, जो करोड़ों लोगों की जिंदगी पर असर डाल सकती है। सिस्को के अनुसार, नए जमाने का इंटरनेट न सिर्फ रफ्तार में तेज होगा, बल्कि सस्ता भी होगा और दुनिया के भविष्य संवारने में सक्षम होगा। इंटरनेट को कम खर्चीला बनाने के सिस्को के सपने को साकार करने में भारत के सैकड़ों सॉफ्टवेयर इंजीनियरों का भी बड़ा योगदान है। सैन फ्रैंसिस्को में यहां लगातार एक के बाद एक अभिनव प्रयोगों और नवाचारों से पर्दा हटाते हुए सिस्को के चेयरमैन व सीईओ चुक रोबिंस ने बुधवार को कहा कि उनकी टीम पांचवीं पीढ़ी यानी 5जी के उन्नत बेतार प्रौद्योगिकी यानी वायरलेस टेक्नोलोजी के लिए नया इंटरनेट बनाने के लिए उद्योग में बदलाव ला रही है। उन्होंने कहा, “अगले तीन साल में इंटरनेट यूजर की तादाद के बारे में कल्पना कीजिए जब 49 अरब डिवाइसेस इंटरनेट से जुड़ेंगे और दुनियाभर में करीब 4.8 अरब इंटरनेट यूजर होंगे। इसलिए इंटरनेट की रीढ़ होने के नाते सिस्को पर बड़ी जिम्मेदारी है।” उन्होंने कहा, “आज हमने सिलिकन वन लांच किया है, जोकि नए सिलिकन से बना दुनिया का सबसे शक्तिशाली राउटर है।”

सिस्को के ग्लोबल टेक्नोलोजी लीडर डेविड गोएकलर ने कहा कि 5जी के बड़े नेटवर्क, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस यानी एआई और इंटरनेट ऑफ थिंग्स यानी आईओटी के लिए नया इंटरनेट महत्वपूर्ण है। कालक्रम में 16के वीडियो स्ट्रीमिंग, एआई, क्वांटन कंप्यूटिंग, पूर्वाभासी साइबर सुरक्षा और अन्य चीजें जिनका अभी आविष्कार नहीं हुआ है, उन उन्नत प्रौद्योगिकी के साथ डिजिटल अनुभव मिलेगा।

डेविड ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “दुनिया के सर्वश्रेष्ठ कंटेंट क्रिएटर वाल्ट डिज्नी को ही देख लीजिए कि वह किस प्रकार ग्राहकों तक पहुंच बनाने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल एक प्लेटफार्म के रूप में करती है। डिज्नी के लिए इंटरनेट नवाचार को एक मंच बन गया है और इससे इंटरनेट पर ट्रैफिक का काफी दबाव रहता है। इसलिए हमें यह सुनिश्चित करना है कि इंटरनेट की रफ्तार ज्यादा तेज हो।”

अमेरिका के बाहर सिस्को के पास सबसे ज्यादा प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काम करने वाले लोग भारत में हैं। भारतीय इंजीनियरों व प्रौद्योगिकी विशेषज्ञों की दक्षता के बारे में पूछे जाने पर डेविड गोएकलर ने कहा, “भारत में हमारी शानदार टीम है, जोकि कैलिफोर्निया के बाहर सबसे बड़ी टीम है। भारत में हमारी विशाल टीम में 10,000 इंजीनियर हैं। भारत में हमारा बड़ा कारोबार है और कुछ बड़े सेवा प्रदाता हमारे साझेदार हैं। यहीं नहीं, इन नवाचारों में भारत के सैकड़ों इंजीनियरों का योगदान है। हमें उनपर गर्व है।”

नए नवाचारों की लांचिंग के दौरान सिस्को के कुछ शीर्ष कस्टमर भी मंच पर उपस्थित थे, जिनमें गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, कॉकास्ट, एटीएंडटी, फेसबुक, और डिज्नी स्टूडियो शामिल रहे। डिज्नी के प्रौद्योगिकी नवाचार मामले के वाइस प्रेसीडेंट बेन हैवी ने कहा कि उनकी कंपनी पूरी तरह सिस्को के विजन के साथ है। उन्होंने कहा, “जब आप नेटवर्क के बारे में सोचते हैं तो यह एक नदी के समान है जो हमारे कारोबार से होकर गुजरती है। स्ट्रीमिंग के लिए इंटरनेट महत्वपूर्ण है।”

फेसबुक के कनेक्टिविटी मामलों के ग्लोबल हेड डैन रबिनोवित्सज ने कहा कि सोशल नेटवर्क साइट पर यूजर की तादाद बढ़ने के कारण फेसबुक के सुचारु संचालन के लिए तेज और सक्षम इंटरनेट जरूरी हो गया है। सिस्को के एक सीनियर एग्जिक्यूटिव ने कहा कि बुधवार को कंपनी ने जो इंटरनेट ऑफ फ्यूचर को लांच किया है, उससे अर्थव्यवस्था में भी तेजी लाने में मदद मिलेगी, क्योंकि अर्थव्यवस्था को अगले कुछ साल में तेज इंटरनेट ब्रैंडविड्थ की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सिस्को की इन कोशिशों से निश्चित रूप से लोगों के लिए इंटरनेट काफी सस्ता हो जाएगा।