पेटीएम सबसे ज्यादा फास्टैग जारी करने वाली कंपनी

नई दिल्ली। पेटीएम पेमेंट्स बैंक (पीपीबी) ने सोमवार को घोषणा की कि वह देश में सबसे ज्यादा फास्टैग जारी करने वाली कंपनी बन गई है। पीपीबी ने कहा कि उसने अब तक 30 लाख फास्टैग की बिक्री की है। यह टॉल प्लाजा पर इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट को स्वीकार किए जाने की बढ़ती रफ्तार को दिखाता है।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक के एमडी और सीईओ सतीश गुप्ता ने कहा, “यह उपलब्धि सरकार के डिजिटल इंडिया के विजन के प्रति हमारे प्रयास को दिखाती है। हम देश में डिजिलट टोल पेमेंट्स को लागू करने के लिए काम जारी रखेंगे।”

फास्टैग एक इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम है, जिसे नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा संचालित किया जाता है।

इस प्रणाली के तहत रेडियो फ्रीक्वेंसी आईडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी के जरिए सीधे तौर पर टोल का भुगतान प्रीपेड या सेविंग अकाउंट से किया जाता है।

पेटीएम पेमेंट्स बैक का मकसद मार्च 2020 तक फास्टैग का इस्तेमाल दोगुना कर 50 लाख वाहनों तक पहुंचाने का है। इसने सभी फास्टैग का करीब 40 फीसदी बीते एक महीने में जारी किया है और सक्रियता के साथ अपनी पहुंच को बढ़ा रहा है।

पेटीएम फास्टैग अपने उपयोगकर्ताओं को सीधे तौर पर अपने पेटीएम वॉलेट के जरिए भुगतान करने की अनुमति देता है। इस तरह से अलग फास्टैग वॉलेट बनाने व रिचार्ज करने की जरूरत नहीं है।

इसे वाहन के रजिस्ट्रेशन नंबर और सर्टिफिकेट के जरिए खरीदा जा सकता है और यह दर्ज पते पर मुफ्त में डिलीवर किया जाता है।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक, नेशनल इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन (एनईटीसी) प्रोग्राम के लिए देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक है, जो राष्ट्रव्यापी टोल भुगतान की पेशकश करता है।