मप्र के वरिष्ठ भाजपा नेता विजयवर्गीय के बयान पर टीएस सिंहदेव का ट्वीटर पर ऐसा जवाब

पीएम की खिचड़ी-पोहा वाली तस्वीर साझा किया

भोपाल। मप्र के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय का एक बयान सोशल मीडिया पर छाया हुआ है जिसमें वे कहते है कि मेरे घर में काम कर रहे मजदूरों के पोहा खाने के स्टाइल से मैं समझ गया कि वह बांग्लादेशी हैं। अपने बयानों से मप्र की राजनीति में विजयवर्गीय सुर्खियों में रहते आए है। अब जब सीएए के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन का दौर जारी है। लोग उनके इस बयान पर चुटकियां ले रहे हैं। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने ट्वीटर पर इसका जोरदार अंदाज में जवाब दिया है। टिप्पणी करते हुए एक तस्वीर पोस्ट की है जिसमें लिखा है कि पीएम मोदी बिना खिचड़ी और पोहा के रह नहीं सकते।

दरअसल इंदौर में कल आयोजित एक कार्यक्रम में कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, “जब हाल में ही मेरे घर में एक कमरे के निर्माण का काम चल रहा था तो कुछ मजदूरों के खाना खाने का स्टाइल मुझे अजीब लगा। वे केवल पोहा खा रहे थे। मैंने उनके सुपरवाइजर से बात की और शक जाहिर किया कि क्या ये बांग्लादेशी हैं। इसके दो दिन बाद सभी मजदूर काम पर आए ही नहीं।”

उन्होंने कहा कि इस मामले में मैंने अभी तक पुलिस शिकायत नहीं दर्ज कराई है। मैं केवल इस घटना का जिक्र करते आप लोगों को आगाह करना चाहता हूं। यह सब देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा है। मैं जब बाहर जाता हूं तो मेरे साथ 6 सुरक्षाकर्मी चलते हैं, क्योंकि घुसपैठिए देश का माहौल बिगाड़ रहे हैं।

बता दें कि इसके पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कपड़ों से पहचानने वाला बयान दिया था।  झारखंड में एक चुनावी सभा में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था, ये कांग्रेस और उसके साथी हो-हल्ला मचा रहे हैं, तूफान खड़ा कर रहे हैं। उनकी बात चलती नहीं है तो आगजनी फैला रहे हैं। ये जो आग लगा रहे हैं, टीवी पर जो उनके दृश्य आ रहे हैं, ये आग लगाने वाले कौन हैं, उनके कपड़ों से ही पता चल जाता है।

हम आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में सुबह के नाश्ते में पोहा और जलेबी प्रमुख है। हर ठेले, नुक्कड़ पर आपको यह मिल जाएगा। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भी यह काफी लोकप्रिय है। इंदौर का नमकीन देशभर को लुभाता रहा है और यहीं पोहा व जलेबी खाकर सांसद गौतम गंभीर नजर आए थे।

ट्वीटर पर यूजर्स वह तस्वीर भी पोस्ट करने लगे हैं जिसमें पूर्व क्रिकेटर और भाजपा सांसद गौतम गंभीर वीवीएस लक्ष्मण और जतिन सप्रू के साथ सुबह इंदौरी पोहे और जलेबी का नाश्ता किया था।  दरअसल नवंबर में दिल्ली में हवा की गुणवत्ता और बढ़ते प्रदूषण को लेकर सरकार, विभिन्न अथॉरिटी और जनप्रतिनिधियों की बैठक थी। सांसद गौतम गंभीर को भी इसमें शामिल होना था। फोटो में गंभीर को पोहा खाते देख एक यूजर ने ‘लापता सांसद’ लिखा तो दूसरे ने लिखा- दिल्ली की जनता अपने जिस जनप्रतिनिधि को खोज रही है, वह इंदौर में जलेबी खा रहे हैं।

संबंधित पोस्ट

मध्य प्रदेश : कंगना रनौत पर सियासी संग्राम

मध्य प्रदेश के सीधी में विधवा के साथ दरिंदगी, कोख में सरिया डाला

गौतम गंभीर ने कहा,कोहली की कप्तानी समझ में नहीं आती

स्वच्छ भारत मिशन पुरस्कार प्राप्त करने 30 जुलाई से 15 अगस्त तक करें आवेदन

मध्यप्रदेश के इंदौर में कोरोना से मरे मरीज की जेब कटी, मोबाइल चोरी

मप्र : सिंधिया के प्रभाव वाले जिलों की कांग्रेस कार्यकारिणी भंग

ओडिशा : पीएम मोदी ने 500 करोड़ की सहायता की घोषणा की

मप्र : एमसीयू के कुलपति का प्रभार संजय द्विवेदी को

सीएम भूपेश का पीएम को पत्र, श्रमिकों और अन्य व्यक्तियों के परिवहन पर रखी ये मांग

मंत्रोच्चारण सहित खुला बद्रीनाथ का सिंहद्वार, सोशल डिस्टेंसिंग का रखा ख्याल

सफर में मिले दर्द को भूलकर सरकारों की तारीफ करते नहीं थक रहे मजदूर

लॉकडाउन के अगले चरण पर संभावित फैसला आज, मोदी करेंगे बैठक