एमपी पीएससी परीक्षा में विवादित सवाल पूछने वाले पर कार्रवाई होगी : कमलनाथ

भोपाल मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्य लोकसेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा में भील समाज को लेकर विवादित सवाल पूछने वालों के खिलाफ कार्रवाई का शुक्रवार को भरोसा दिलाया है। विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान कांग्रेस विधायक कांतिलाल भूरिया द्वारा उठाए गए मामले का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, “मध्यप्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा भील जाति को लेकर किए गए आपत्तिजनक प्रश्न के संबंध में जांच की जा रही है। जांच रिपोर्ट आने के बाद दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।”

कमलनाथ ने कहा, “पूरी घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। इस पूरे मामले को राज्य सरकार ने गंभीरता से लिया है। किसी विद्यार्थी का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।”

ज्ञात हो कि एमपीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा में भील समाज की निर्धनता को लेकर एक गद्यांश दिया गया और सवाल पूछे गए। सवाल में कहा गया, “आय से अधिक खर्च होने पर वे आर्थिक तौर पर विपन्न होते हैं।” निर्धनता का कारण आपराधिक प्रवृत्ति को भी बताया गया था, साथ ही कहा गया था कि इसके चलते वे अपनी सामान्य आय से देनदारियां पूरी नहीं कर पाते।

परीक्षा के प्रश्न पत्र में भील समाज को अपराधी बताए जाने पर सियासत गरमा गई थी, जिसके बाद सरकार ने जांच के आदेश दिए थे।

(आईएएनएस)

संबंधित पोस्ट

मप्र में कांग्रेस छोड़ने वाले विधायक 35-35 करोड़ में बिकेः जयवर्धन सिंह  

भोपाल में फेथ बिल्डर के ठिकानों पर आयकर छापे, करोड़ों की संपत्ति का अनुमान  

मप्र के ग्वालियर में टीशर्ट-जींस पहन दफ्तर नहीं जा सकेंगे अफसर-कर्मचारी

विकास दुबे मप्र के उज्जैन में गिरफ्तार, दो साथी मुठभेड़ में मारे गए

मप्र विस उपचुनाव में भाजपा कमल नाथ के छिंदवाड़ा प्रेम को मुद्दा बनाने की तैयारी में

मध्यप्रदेश की सियासत में पाप, पापी अधर्म और धर्म की एंट्री

मप्र : पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू कांग्रेस में लौटे

मप्र : कमल नाथ, नकुल नाथ के बाद अब सिंधिया के लापता होने के लगे पोस्टर

मप्र : सिंधिया के प्रभाव वाले जिलों की कांग्रेस कार्यकारिणी भंग

‘मुख्यमंत्री अधोसंरचना उन्नयन योजना’ के तहत होगा शिक्षा, स्वास्थ्य का उन्नयन

मप्र : ट्रक में छुपकर जारहे मजदूरों का नरसिंहपुर में ट्रक पलटा, 5 की मौत

मप्रः शादी के लिए पंडित मिला नहीं, महिला पुलिस अफसर ने गूगल के सहारे लगवाए फेरे