जूनियर जोगी की हुंकार, बोले-भ्रमण, दमन और रकम सिंह है मुख्यमंत्री

रायपुर। विधानसभा घेरने निकले जनता कांग्रेस की सभा में जूनियर जोगी ने हुंकार भरी। घेराव से पहले हुई सभा को संबोधित करते हुए अमित जोगी ने मुख़्यमंत्री डॉ रमन सिंह के तीन रूपों का बखान किया। अमित जोगी ने उन्हें भरम सिंह, दमन सिंह और रक़म सिंह की संज्ञा दी है।अमित जोगी ने कहा कि डाॅ. रमन सिंह को छत्तीसगढ़ के लोगों ने 14 वर्षो में देखा है। जिसमें पहले रूप में वह भ्रमण सिंह के रूप में नजर आए छत्तीसगढ़ की जनता की गाढ़ी कमाई के पैसों से प्रदेश में निवेश लाने के नाम पर विदेश के हर देश में घूम आये। एक रूपये का निवेश विदेश से तो नही आया किन्तु यहां के लोगों का शोषण कर लूटी गई काली कमाई को जरूर विदेश के बैंको में निवेश कर दिया। वे अपने दूसरे रूप में दमन सिंह के रूप में नजर आये जब उन्होने छत्तीसगढ़ की जनता से जुड़ी मांगों को दरकिनार कर मांग उठाने पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नेताओं और कार्यकर्ताओ पर राजनैतिक विद्धेष अनेक मामले दर्ज करायें एवं तमाम शासकीयकर्मियों की मांगों को दमन कर उन्हे निलंबित एवं बर्खास्त की कार्यवाही की। तीसरे रूप में रकम सिंह के रूप में नजर आए सरकार के किसी भी शासकीय विभाग में हर एक काम के लिए कमीशन अनिवार्य कर दिया। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ द्वारा किसानो को 2500 रूपये समर्थन मूल्य, प्रदेश के युवाओ को शासकीय व गैर शासकीय संस्थाओ में नौकरी पर 90 % आरक्षण, आबादी पट्टा एवं प्रदेश में पूर्ण शराब बंदी जैसी मांगों को लेकर विधानसभा का घेराव किया।

जनता कांग्रेस ने  ” सत्ता छोड़ो ” विधानसभा घेराव में ऐतिहासिक प्रदर्शन का दावा किया है। पार्टी के ऑफिशियल ट्विटर एकाउंट पर पार्टी की तरफ से 19353 रिकॉर्ड गिरफ्तारी का दावा किया गया है। पार्टी की तरफ से उस ट्वीट में ये भी कहा गया मानसून सत्र रमन सरकार के कार्यकाल का अंतिम साबित होगा।

झूमाझटकी के बाद खदेड़े गए कार्यकर्ता
सभा के बाद विधानसभा की ओर बढे सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच जमकर झूमाझटकी हुई। जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ता लगातार आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे थे वहीं पुलिस उन्हें रोकने का प्रयास कर रही थी। तक़रीबन आधे घंटे तक चली इस झूमाझटकी के बाद जोगी कांग्रेस पर पुलिस ने लाठिया भांजी। लाठी चार्ज में छत्तीसगढ़ युवां जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विनोद तिवारी कमलेश मिश्रा, सैय्यद उमैर, धीरज सिंग, अजय पाण्डेय, संदीप साहू, रामचक्रधारी, पंकज दीवान एवं विनोद चैहान सहित अनेक कार्यकर्ता को हाथ-पैर एवं पीठ पर चोटे आयी जिन्हे निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।