जवाब देने सरकार तैयार, विधायकदल की बैठक में बनेगी रणनीति

रायपुर। डॉ रमन सिंह के मुख्यमंत्रित्व वाली तीसरी सरकार के आख्रिरी विधानसभा सत्र में सत्तापक्ष अपनी तैयारी से पहुंचेगी। इसके लिए हाल ही में हुई कैबिनेट में मुख्यमंत्री ने मंत्रियो को विस सदस्यों के सवालों का जवाब तैयार करने दिशा निर्देश दिए थे। साथ ही सदन के भीतर सदस्यों का जवाब देने और विपक्षीय हमलों पर माकूल प्रहार करने की तैयारी भी सत्तापक्ष के सभी सदस्य कर रहे है। सदन में विपक्षीय हमलों को रोकने और उसका जवाब देने एक मंत्री के साथ दो अन्य विधायकों को तैनात किया जाएगा।
इस आखरी सत्र में सरकार की तरफ से कोई कोर कसर न रह जाए इसके लिए भाजपा विधायक दल की महत्वपूर्ण बैठक 2 जुलाई को रखी गई है। बैठक में सत्ता पक्ष की ओर से महत्वपूर्ण मुद्दों का चयन, उस पर चर्चा और जवाब देने की जिम्मेदारी, विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर हमला, सरकारी कामकाज़, क्षेत्र से जुड़े अन्य काम की तैयारी सत्तापक्ष करेगा। चूंकि इस सरकार का ये अंतिम सत्र है, लिहाज़ा सरकार अपने 15 सालों के कामकाजों का बखान भी करेगी। जिसकी तैयारी भी बैठक के दौरान की जाएगी।

कांग्रेस लाएगगी अविश्वास प्रस्ताव
सरकार के कामकाजों के खिलाफ विपक्ष की ओर से सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा। हालाँकि संख्याबल के आधार पर ये प्रस्ताव पटल पर औंधेमुंह गिर सकता है। इसके पहले भी कांग्रेस की तरफ से सरकार के खिलाफ सौ से अधिक बिंदुओं वाला अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था जो सदन में गिर था।

5 बैठकों के लिए पहुंचे 768 सवाल
विधानसभा का मानसून सत्र 6 दिन में पांच बैठकों वाला है। पहले दिन श्रद्धांजलि के बाद सत्र की कार्यवाही अगले दिन तक के लिए स्थगित कर दी जाएगी। इसके बाद पांच बैठकें होनी है, जसमें सदस्यों द्वारा 768 सवाल लगाए गए है। जिसमें 389 तारांकित और 379 अतारांकित प्रश्न है।