भागवत इंदौर पहुंचे, संघ की बैठक में भाजपा नेता भी लेंगे हिस्सा

इंदौर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएएसएस) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की गुरुवार से शुरू हो रही बैठक में हिस्सा लेने संघ प्रमुख मोहन भागवत इंदौर पहुंच गए हैं। बैठक में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राममंदिर निर्माण के अलावा बिहार व पश्चिम बंगाल के चुनाव पर भी चर्चा होने की संभावना है। इस बैठक को मीडिया से दूर रखा गया है। भागवत गुरुवार को सुबह लगभग 11 बजे हवाई जहाज से इंदौर पहुंचे। हवाई अड्डे पर संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने उनकी अगवानी की। इसके बाद वे सीधे आयोजन स्थल की ओर रवाना हो गए।

संघ के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, संघ प्रमुख पांच दिन तक यहां रहने वाले हैं। इस दौरान ओमिनी रेसीडेंसी में बैठकों का दौर चलेगा। देश में सीएए के पक्ष में वातावरण बनाने के उपायों पर विचार होगा और आगामी रणनीति बनाई जाएगी। उन्होंने बताया कि बैठक में राममंदिर निर्माण पर भी विचार होगा, वहीं इसी साल बिहार और पश्चिम बंगाल में होने जा रहे विधानसभा चुनावों को लेकर भी चर्चा होने की संभावना है।

सूत्रों के अनुसार, इस बैठक के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कई वरिष्ठ नेता भी इंदौर पहुंचकर बैठक में भाग लेंगे। बैठक में संघ प्रमुख भागवत के साथ भैयाजी जोशी समेत प्रांत प्रचारक, कार्यवाहक संघ चालक और अखिल भारतीय कार्यकारिणी के 300 से ज्यादा पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। इस दौरान तीन दिन अखिल भारतीय पदाधिकारियों की बैठक होगी, एक दिन अनुषांगिक संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक प्रस्तावित है। इसके अलावा भागवत प्रबुद्घ जनों के साथ एक दिन बैठक करेंगे। भागवत पांच दिन शहर में रुकेंगे और कुछ कार्यक्रमों में भी शामिल होंगे।

संघ प्रमुख मोहन भागवत निजी होटल में पांच दिन रहेंगे। भागवत के प्रवास के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। भारी पुलिस बल की तैनाती है और मीडिया को इस आयेाजन से दूर रखा गया है।

संबंधित पोस्ट

भारत हिंदू राष्ट्र होता तो सीएए की जरूरत नहीं पड़ती : हिंदू महासभा

केरल मंत्रिमंडल का सीएए के खिलाफ सख्त रूख

देश हिंदुओं का है : मोहन भागवत

लता मंगेशकर सम्मान सुमन कल्याणपुर और कुलदीप सिंह को

सीएए के खिलाफ रणनीति बनाएंगे विपक्ष दल

सीएए पर अफवाहों को हवा दे रहे कुछ राजनीतिक दल : मोदी

देश के मुसलमानों के लिए हिन्दुस्तान से सुरक्षित जगह कोई नहीं : नकवी

सीएए देशहित में नहीं, राज्य में इसे लागू नहीं होने देंगे : कमलनाथ

सुप्रीम कोर्ट हिंसा रुकने के बाद ही सीएए की वैधता तय करेगा

सीएए पर कांग्रेस की बैठक में शामिल नहीं होंगी ममता बनर्जी

सदफ, दारापुरी जेल से रिहा, संघर्ष जारी रखेंगे

भाजपा के हनी ट्रैप में 52, 72, 000