बिहार : सोशल मीडिया पर वीडियो डालने पर घिरे तेजस्वी, मंत्री ने भेजा नोटिस

माफी न मांगने पर मानहानि का दावा करने की चेतावनी

पटना। मध्यप्रदेश में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पर ट्वीटर एकाउंट में सीएम शिवराज सिंह का एडिट वीडियो डालने पर एफआईआर दर्ज करने के बीच अब इस तरह के एक मामले में  बिहार में तेजस्वी यादव को मंत्री अशोक चौधरी ने कानूनी नोटिस भेजा है।

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ट्विटर पर नीतीश सरकार के एक मंत्री का वीडियो पोस्ट करने के मामले में घिर गए हैं। मंत्री अशोक चौधरी ने सोमवार को इस मामले में अब पूर्व उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव को कानूनी नोटिस भेजा है।

मंत्री द्वारा भेजे गए नोटिस में तेजस्वी से 10 घंटे के अंदर जवाब मांगा गया है और कहा गया है कि यदि तेजस्वी अपने ट्वीट को अपने पेज से डिलीट कर, माफी नहीं मांगते हैं तो उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

मंत्री ने इस वीडियो को छेड़छाड कर बनाने का आरोप लगाते हुए कहा, “पूर्व उपमुख्यमंत्री द्वारा ट्विटर पर जो मेरा वीडियो डाला गया है वह बातें मैंने बोली ही नहीं हैं। यह उनकी प्रतिष्ठा का हनन का प्रयास है।”

दरअसल, यह मामला तब सामने आया जब तेजस्वी यादव ने एक वीडियो ट्वीट किया था, जिस पर अशोक चौधरी ने आपत्ति जताई है। उनका कहना है कि वीडियो को एडिट करके मानहानि की गई है।

राजद ने बिहार के मंत्री चौधरी का एक वीडियो जारी किया था। इसमें लालू यादव के जन्मदिन पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए अशोक चौधरी गाली देते सुनाई दे रहे थे।

तेजस्वी के मुख्यमंत्री के घर से बाहर नहीं निकलने के आरोप में पूछा गया तब मंत्री ने कहा, “पहले चरण के लॉकडाउन के दौरान वे (तेजस्वी) कहां थे पहले उन्हें यह बताना चाहिए। मुख्यमंत्री तो लगातार काम कर रहे हैं।”

मंत्री ने राजद को ‘ढोलबजवा’ पार्टी करार देते हुए कहा कि राजद ने अपने शासनकाल में पूरी दुनिया में बिहार की ‘ढोल’ बजवा दी थी।

(आईएएनएस)