मप्र में भाजपा विधायक कोरोना पॉजिटिव, सियासत में उबाल

कांग्रेस ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए

भोपाल। मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के विधायक ओम प्रकाश सखलेचा के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद राज्य की सियासत में हड़कंप मच गया है। विधायक ने बीते तीन दिनों में भाजपा के कई बड़े नेताओं से न केवल मुलाकात की बल्कि शुक्रवार को राज्यसभा के चुनाव में मतदान भी किया था। कांग्रेस ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार , नीमच जिले के जावद विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक सखलेचा की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वे नीमच के जिस इलाके में रहते है उसे पहले ही कंटेनमेट क्षेत्र घोषित किया जा चुका है,सखलेचा बीते तीन दिन से राजधानी में है।

इस दौरान उन्होंने भाजपा के विभिन्न आयोजनों और बैठकों मे भी हिस्सा लिया था। अब तो सखलेचा के संपर्क में आए विधायक भी अपनी जांच करा रहे है।

कांग्रेस ने सखलेचा के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने और उनके द्वारा राज्यसभा की प्रक्रिया में हिस्सा लेने पर गंभीर आरोप लगाए है।

कांग्रेस के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष सैयद जाफरी का कहना है कि, ‘बीजेपी विधायक ओमप्रकाश सकलेचा कोरोना पॉजिटिव, तीन सवाल- क्या कोरोना संक्रमित विधायक को बगैर पीपीई किट के विधानसभा मे लाकर बीजेपी ने सभी 205 विधायको और प्रदेश की जनता को संक्रमण के खतरे में नही डाल दिया? यदि सकलेचा कोरोना संक्रमित थे या उनमे लक्षण थे तो इसकी जानकारी उन्होंने और बीजेपी ने क्यों छुपाई ? कोरोना पॉजिटिव छुपाने वालों पर केस दर्ज करने वाली सरकार क्या सकलेचा पर केस दर्ज करने की हिम्मत दिखा पाएगी?’

बता दें कि कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद जब वे  मतदान करने आए तो उन्हें पीपीई किट पहनाकर विधानसभा परिसर में लाया गया था। एम्बुलेंस  के साथ जो सुरक्षा कर्मी थे वे भी पीपीई किट पहने थे साथ ही  सभी प्रोटोकाल का पालन किया गया था।
(आईएएनएस)

 

संबंधित पोस्ट

हिंदू महासभा के नेता को प्रवेश दिलाने पर कांग्रेस को अपनों ने ही घेरा

बंगाली अभिनेत्री पायल सरकार भाजपा में शामिल

मप्र के कूनो नदी में छोड़े गए 25 घड़ियाल

10वीं की परीक्षा पास नहीं हो सकी मप्र की बसपा विधायक रामबाई

भाजपा ने बंगाल में जय श्रीराम नारे के चक्रव्यूह में ममता को फिर उलझाया?

पश्चिम बंगाल में भाजपा के लिए क्यों महत्वपूर्ण हुए नेताजी?

सरकार तीसरा ट्रायल होने तक कोवैक्सीन टीकाकरण रोकें : कांग्रेस

मप्र : 13 जिलों तक फैला बर्ड फ्लू, तीन जिलों में कुक्कुट बाजार 7 दिनों तक बंद

कांग्रेस चार राज्यों में नए प्रदेश अध्यक्षों की नियुक्ति की तैयारी में जुटी

भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्रियों की जिम्मेदारियों में फेरबदल  

मप्र : सर्जन सिर से ट्यूमर निकालता रहा, बच्ची पियानो बजाती रही

मप्र में लव जिहाद को लेकर कानून अगले सत्र में, 5 साल की सजा का प्रावधान