‘संदिग्धों व पीड़ितों का इलाज गरिमा के साथ करने पर ध्यान दें सरकारें’

महाराष्ट्र में कोरोना के संदिग्धों के अस्पताल से भागने का मामला, आप विधायक की प्रतिक्रिया

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक सौरभ भारद्वाज ने सोमवार को कहा कि यदि कोविड-19 के संदिग्ध मरीज भाग रहे हैं, तो ऐसे में उन्हें दोष न दें। सभी सरकारों को चाहिए कि वह इस बात पर ध्यान केंद्रित करे कि कैसे संदिग्धों और कोरोनावायरस से ग्रस्त मरीजों का इलाज गरिमा के साथ किया जाए।

कई सीरीज में उन्होंने इस बाबत ट्वीट्स किए और पूछा कि क्यों एक बीमार व्यक्ति उपचार से भाग जाएगा, हमें सबसे खराब परिस्थितियों या रोगियों द्वारा सामना किए गए उत्पीड़न की कल्पना करनी चाहिए।

आप प्रवक्ता ने कहा, “यदि संदिग्ध भाग रहे हैं, उन्हें दोष ना दें। सबसे खराब परिस्थितियों और उस उत्पीड़न की कल्पना करें जो रोगियों ने भोगा होगा।”

उन्होंने कहा कि उन्हें यकीन है कि मरीज के साथ वैसे ही उत्पीड़न किया जा रहा होगा, जैसा एचआईवी से संक्रमित मरीजों के साथ किया जाता है।

अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, “एक बीमार व्यक्ति इलाज से क्यों भागेगा? मुझे यकीन है कि वे एचआईवी से संक्रमित मरीजों की तरह ही उत्पीड़न का सामना कर रहे होंगे। सरकारों को बड़े आकार की संगरोध केंद्र बनाने पर निवेश करना चाहिए। सभी सरकारों को इस पर विश्वास बनाने पर ध्यान देना चाहिए कि संदिग्ध और कोरोनावायरस से संक्रमित मामलों में मरीजों के साथ सम्मान के साथ व्यवहार किया जाएगा।”

भारद्वाज ने कहा कि कुछ लोग सोच रहे हैं कि अन्य लोग मूर्ख हैं, इसीलिए वे अस्पताल से भाग गए।

उन्होंने कहा, “प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन से प्रेम है। कोई भी अस्पताल से भागकर अपने घर जाकर अपने बच्चों को बीमार नहीं करना चाहेगा। क्यों मरीज अस्पतालों से भाग रहे हैं? इस समस्या का मूल कारण ज्ञात करें। मीडिया और सरकार को चाहिए कि इसकी जांच करें और खामियों को दूर करें।”

भारद्वाज उस खबर पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे थे, जिसमें बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र में कोरोनावायरस से संदिग्ध 11 मरीज अस्पताल से भाग गए। सभी ने पूर्व में दुबई की यात्रा की थी।

(आईएएनएस)