हज यात्रा के लिए कुर्राह सम्पन्न, 434 लोग जाएंगे हज़

मंत्री प्रेमसाय ने कि खुशहाली और तरक्की की दुआ करने की अपील

रायपुर। स्कूल शिक्षा एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह ने छत्तीसगढ़ से इस वर्ष हज पर जाने वाले यात्रियों के चयन हेतु कुर्राह (लॉटरी) का उद्घाटन किया। सेन्ट्रल हज कमेटी के द्वारा ऑनलाइन प्रक्रिया के जरिए प्रदेश के हज यात्रियों का चयन किया गया। प्रदेश से हज के लिए इस वर्ष 434 हज यात्रियों का दल रवाना होगा। मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह ने चयनित सभी हज यात्रियों को मुबारकबाद देते हुए प्रदेश की खुशहाली एवं तरक्की की दुआ करने की अपील की।

हज यात्रा
अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह ने कहा कि मुस्लिम समाज के हर व्यक्ति की दिली ख्वाहिश होती है कि वह जीवन में एक बार अपने प्रमुख तीर्थ स्थल हज की यात्रा करें। हज में व्यक्ति खुदा के सबसे करीब होता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हज कमेटी के माध्यम से हज यात्रियों को उच्चस्तरीय सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य हज कमेटी द्वारा दी जा रही सुविधाओं के फलस्वरूप प्रदेश से इस वर्ष 604 व्यक्तियों ने ऑनलाईन आवेदन प्रस्तुत किया है। राज्य में कुल आवेदनकर्ताओं में से इस वर्ष 50 प्रतिशत से अधिक व्यक्तियों को यात्रा का मौका मिलेगा। डॉ. सिंह ने कहा कि नया रायपुर में बनने वाले हज हाउस के कार्य को तीव्र गति दी जाएगी। रायपुर से ही हज के लिए उड़ान व्यवस्था करने सरकार द्वारा पहल की जाएगी। छत्तीसगढ़ प्रदेश के हज यात्रियों को सुविधा उपलब्ध कराने में देश के अग्रिम राज्यों में शुमार है। छत्तीसगढ़ पहला राज्य है, जहां चयनित हाजियों का प्रशिक्षण मोबाइल एप्पलीकेशन के माध्यम से होता है। चयनित हज यात्रियों को निःशुल्क हज किट, दवा किट उपलब्ध कराती है। हज यात्रियों के टीकाकरण का केन्द्रीयकृत कार्य स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से होता है। स्वास्थ्य दल में 8-10 डॉक्टर और 30-35 पैरामेडिकल स्टॉफ होता है।