भाजपा के ‘लोकतंत्र बचाओ’ अभियान के पहले कोलकाता पुलिस ने मंच गिराया

भाजपा कार्यकर्ता प्रतिबंधित क्षेत्र में विरोध रैली के लिए मंच बना रहे थे

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24-परगना जिले में राज्य सरकार के एक कार्यालय के सामने अस्थायी पोडियम (मंच) बनाने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। यह घटना गुरुवार रात की है। स्थानीय भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ता प्रतिबंधित क्षेत्र में सब-डिविजनल कार्यालय के बाहर अपनी विरोध रैली के लिए एक मंच बनाने में व्यस्त थे।

भाजपा की राज्य इकाई ममता बनर्जी की अगुवाई वाली राज्य सरकार में बढ़ते अत्याचार के विरोध में शुक्रवार को ‘लोकतंत्र बचाओ’ अभियान आयोजित करने वाली थी।

हालांकि सूत्रों के अनुसार, स्थानीय पुलिस ने गुरुवार देर रात वहां जाने के पश्चात कोविड-19 महामारी में दिशानिदेशरें का उल्लंघन करने के आधार पर मंच को गिरा दिया। ऐसे में भाजपा की राज्य ईकाई शुक्रवार को जिलों के हर ब्लॉक में धरना प्रदर्शन और विरोध प्रदर्शन कर रही है।

प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष रितेश तिवारी ने गुरुवार को कहा था, “सभी जिलों में विरोध कार्यक्रम सुबह 11 बजे शुरू होगा। कोलकाता में, यह दोपहर 12 बजे से शुरू होगा। ऐसी कई घटनाएं हुई हैं, जहां ममता बनर्जी की पुलिस हमारे कार्यकतार्ओं को प्रदर्शनों में भाग लेने से रोकने की कोशिश कर रही है। उन्होंने जिलों में हमारे कुछ सेट अप को भी ध्वस्त कर दिया है।”

(आईएएनएस)

संबंधित पोस्ट

ममता के कथित ऑडियो क्लिप को लेकर भाजपा, तृणमूल में तकरार

भाजपा ने बंगाल के लिए किया घोषणापत्र जारी, सीमा सुरक्षा पर विशेष फोकस

भाजपा ने तमिलनाडु में पूर्व आईपीएस और अभिनेत्री खुशबू को दिया टिकट

भाजपा का पश्चिम बंगाल चुनाव में बड़ा दांव, 4 सांसदों को भी उतारा 

चुनाव आयोग ने ममता को चोट लगने पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी, भाजपा ने कहा-‘ड्रामा’

भाजपा ने बंगाल में मिथुन सहित 40 तो असम में बनाए 20 स्टार कैंपेनर

बंगाली अभिनेत्री पायल सरकार भाजपा में शामिल

दिल्ली से लौटे भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू का कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत

भाजपा ने बंगाल में जय श्रीराम नारे के चक्रव्यूह में ममता को फिर उलझाया?

पश्चिम बंगाल में भाजपा के लिए क्यों महत्वपूर्ण हुए नेताजी?

भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्रियों की जिम्मेदारियों में फेरबदल  

ओपी धनखड़ को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा ने हरियाणा में चलाया जाट कार्ड