मप्र : सिंधिया के प्रभाव वाले जिलों की कांग्रेस कार्यकारिणी भंग

कमेटी अध्यक्षों को नई कार्यकारिणी गठन का कमल नाथ का निर्देश

भोपाल। कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई ने पांच जिलों की छह इकाइयों की कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। ये इकाइयां कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले क्षेत्र की हैं। इससे पहले सिंधिया के प्रभाव वाले जिलों के अध्यक्ष भी बदले गए थे। कांग्रेस की प्रदेश इकाई की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, जिला कांग्रेस कमेटी गुना ग्रामीण, गुना शहर, श्योपुर, शिवपुरी, विदिशा और अशोकनगर जिलों की कांग्रेस कमेटियों की कार्यकारिणी तत्काल प्रभाव से भंग कर दी गई हैं।

प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री (प्रशासन) राजीव सिंह ने बताया कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों को नवीन कार्यकारिणी के गठन के लिए पत्र लिखा गया है, जिसमें कहा गया है कि वे जिले के वरिष्ठ कांग्रेसजनों, पदाधिकारियों, निर्वाचित जनप्रतिनिधियों से चर्चा एवं समन्वय स्थापित कर एक सप्ताह के अंदर प्रस्तावित सूची अनुमोदन के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी को प्रेषित करें।

इससे पहले, पिछले दिनों ही सिंधिया के प्रभाव वाले क्षेत्रों में शामिल श्योपुर, ग्वालियर ग्रामीण, विदिशा, सीहोर, शिवपुरी, गुना शहर, गुना ग्रामीण और होशंगाबाद के अध्यक्ष बदले गए थे।

सिंधिया ने कांग्रेस में रहते हुए जनसेवा में दिक्कत होने की बात कहकर ऐन राज्यसभा चुनाव के समय पार्टी छोड़ दी थी। भाजपा ने पार्टी में शामिल होते ही उन्हें राज्यसभा उम्मीदवार घोषित किया। लॉकडाउन के कारण राज्यसभा चुनाव भी लंबित है।

(आईएएनएस)

संबंधित पोस्ट

सरकार प्रवासियों की दुर्दशा देखे, उन्हें 7,500 रुपये दे : सोनिया

मप्र : कमल नाथ, नकुल नाथ के बाद अब सिंधिया के लापता होने के लगे पोस्टर

लॉकडाउन से कोई नतीजा नहीं, बल्कि जनता को हुआ भारी नुकसान : राहुल गांधी

मप्र : एमसीयू के कुलपति का प्रभार संजय द्विवेदी को

पीएम केयर फंड पर कांग्रेस के ट्वीट के लिए सोनिया के खिलाफ एफआईआर

कोरोना काल में कांग्रेस का संघ पर निशाना, कहां गई RSS और उनकी जनसेवा ?

सीधे गरीबों की जेब में दें पैसा, पैकेज पर दुबारा विचार करें

राहुल गांधी ने समर्थकों की उम्मीदों पर फेरा पानी, वापसी न करने के दिए संकेत

मप्र : ऑक्सीजन थेरेपी से कोरोना मरीजों का सफल उपचार संभव- डॉ. नरोत्तम मिश्रा

ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह व्यवहार कर रही केंद्र सरकार : कांग्रेस

कांग्रेस और भाजपा के बीच प्रवासी मजदूरों के किराए को लेकर छिड़ी जंग

LockDown Impact : भोपाल में बंदी के नियमों को तोड़ने पर 2969 मामले दर्ज