राजस्थान कांग्रेस ने बनाई नई टीम, सचिन खेमे को मिला बराबर महत्व

नई टीम में सात उपाध्यक्ष, आठ महासचिव और 24 सचिव शामिल हैं

जयपुर | राजस्थान कांग्रेस की इकाई में नई टीम बनने का छह महीने से किया जा रहा इंतजार बुधवार को उस समय खत्म हो गया, जब पार्टी महासचिव के. सी. वेणुगोपाल ने 39 पदाधिकारियों के नामों की घोषणा कर दी। अब तक प्रदेश इकाई में केवल इसके अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा थे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के खेमे को नवगठित टीम में बराबर महत्व दिया गया है। नई टीम में सात उपाध्यक्ष, आठ महासचिव और 24 सचिव शामिल हैं।

उपाध्यक्षों में वयोवृद्ध नेता गोविंद राम मेघवाल, हरिमोहन शर्मा, डॉ. जितेंद्र सिंह, महेंद्रजीत सिंह मालवीय, नसीम अख्तर ‘इंसाफ’, राजेंद्र चौधरी और रामलाल जात शामिल हैं, जबकि महासचिवों में जीआर खटाना, हकीम अली, लखन मीणा, मांगीलाल गरासिया, प्रशांत बैरवा, राकेश पारिख, रीता छाऊधारी और वेद प्रकाश सोलंकी शामिल हैं।

राजस्थान कांग्रेस की इकाई को पिछले जुलाई में पायलट की बगावत के बाद भंग कर दिया गया था। उन्होंने नेतृत्व परिवर्तन की मांग की थी और अंतत : उनका डिप्टी सीएम और राज्य प्रमुख का पद छीन लिया गया था।K C Venugopal.राजस्थान प्रभारी अजय माकन ने घोषणा की थी कि नई टीम 31 दिसंबर तक बन जाएगी, लेकिन गहलोत और पायलट खेमों के बीच असंतोष के कारण देरी हुई।

गहलोत ने ट्वीट कर कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी का आभार जताया और नई टीम के लिए शुभकामनाएं दीं।

उन्होंने नई टीम के लिए लिखा, “मुझे विश्वास है कि आप सभी कांग्रेस की नीतियों, विचारधाराओं और कांग्रेस के सिद्धांतों को गोविंद सिंह डोटासरा के नेतृत्व में हर गांव में ले जाएंगे।”

–आईएएनएस