पूर्ण कर्जमाफी और शराबबंदी के लिए जोगी कांग्रेस घेरेगी विधानसभा

18 फरवरी को जोगी कांग्रेस ने किया विधानसभा घेराव का ऐलान

रायपुर। सागौन बंगले में दोपहर 12 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक चली मैराथन बैठक के बाद जोगी कांग्रेस ने विधानसभा घेरने का फैसला लिया है। बैठक में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की विधानसभा चुनाव के परिणामो को लेकर समीक्षा की। साथ ही विधानसभा घेराव के लिए रणनीति भी तैयार की गई।

पूर्ण कर्जमाफी
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने बताया कि 50 प्रत्याशी एवं भंग हुये संगठन के सभी पूर्व पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता बड़ी संख्या में आए एवं चुनाव के दौरान हुई सभी बातो को, अपनी शिकायतो को एवं अपने सुझावो को क्रमबद्ध रूप से जानकारी दी जिसे संस्थापक अध्यक्ष अजीत जोगी ने सुना, लिखा एवं उस पर पूरी गंभीरतापूर्वक निर्णय लेने का विश्वास दिलाया।
कार्यकर्ताओ की बातो को गंभीरतापूर्वक सुनने के पश्चात् संस्थापक अध्यक्ष अजीत जोगी ने कहा कि सन् 1972 से लेकर अब तक हुये विधानसभा चुनाव में पूरे देश में पहली बार गठित नई पार्टी के रूप में सिर्फ दो ही पार्टियो ने पहले बार के चुनाव में 14 प्रतिशत मत प्राप्त किया जिसमें नई दिल्ली विधानसभा की आम आदमी पार्टी वही दूसरी पार्टी छत्तीसगढ़ विधानसभा में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) पार्टी, इस ऐतिहासिक कृतिमान स्थापित करने के लिए आप सभी को बधाई देता हूं, इतनी बड़ी संख्या में आप सब यहां आये है।

विधानसभा का होगा घेराव
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) की युवा एवं छात्र ईकाई 18 फरवरी को किसानो के मध्यकालीन एवं दीर्घकालीन ऋणो से पूर्ण कर्जमाफी एवं पूर्ण शराबबंदी की मांग को लेकर छत्तीसगढ़ विधानसभा का घेराव करेगी। जोगी ने कहा कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि हमने जो शपथ पत्र में वादे किये थे उसे जनता ने स्वीकारा जिसके कारण कांग्रेस को भी उन्ही वादो को अपने घोषणा पत्र में सम्मिलित करना पड़ा। अब हम सरकार पर पूरा दबाव बनायेगे कि वे उन वादो को पूरा करें।

रेणु ने जताया आभार
समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुये विधायक रेणु जोगी ने कहा कि कोटा विधानसभा कांग्रेस का अभेंद्य गढ़ रहा है जहां आजादी के बाद से आज तक कांग्रेस कभी नही हारी किन्तु मैं आप सब को बधाई देती हूं कि हमारे पार्टी के कार्यकर्ताओ की मेहनत एवं कोटा के जनता के विश्वास ने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) को इस सीट पर विजय दिलायी।