योग दिवस पर भूपेश का तंज़, रामदेव से पूछा “संवेदनशील बनाने का प्राणायाम”

 

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह पर तंज़ कसने का कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे है। एक तरफ जहाँ पूरा देश योगमय है वहीं उसी योग को लेकर भूपेश ने सीएम को लेकर एक ट्वीट किया है।
भूपेश ने अपने ट्वीट पर लिखा है ” योग दिवस के इस पावन अवसर पर @yogrishiramdev जी से सादर विनती है कि वे इंसान को संवेदनशील बनाने का भी कोई प्राणायाम बताएं। मेरे अभिन्न मित्र @drramansingh जी को इसकी सख्त आवश्यकता है क्योंकि आजकल वे ‘संवेदनहीनता’ नामक रोग से बुरी तरह ग्रसित हो चुके हैं। “

इसके ठीक बाद एक और ट्वीट करते हुए भूपेश ने प्रदेशवासियों को योग दिवस की शुभकामनाएं दी है। साथ ही सरकार को बीमार बताते हुए इसे हटाने का आग्रह किया। बघेल ने लिखा ” बाकी आप सभी को योग दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। योग करें, स्वस्थ एवं फिट रहें और इस बीमार सरकार को उखाड़ फेकें। “

इसके कुछ ही देर बाद बघेल के तीसरे ट्वीट से पूरा मसला साफ़ होता है। बघेल ने तीसरे ट्वीट में कहा ” प्रदेश में प्रशासनिक आतंकवाद चरम पर है। जो भी रमन सरकार के कुकृत्यों खिलाफ आवाज उठाता है, सरकार दमनचक्र द्वारा उस आवाज को कुचल देती है। रमन सिंह के दमन को प्रदेश की पौने तीन करोड़ जनता देख रही है और इस दमन का साथ देने वाले अधिकारियों को हम. करारा जवाब मिलेगा। “

विमल चोपड़ा वाले मामले में कसा तंज़
भूपेश के करीबियों ने बताया कि बघेल ने ये तीनों ट्वीट विधायक विमल चोपड़ा वाले मामलें को लेकर किया है। गौरतलब है कि कांग्रेस ने कल पत्रकारवार्ता लेकर राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए है। वहीं मामलें का हवाला देते हुए बघेल ने राष्ट्रपति शासन की मांग भी की थी। भूपेश ने कहा कि प्रदेश की हालात बदतर हो चुकी है, यहां की स्थिति जम्मू-कश्मीर से भी ज्यादा खराब है।

सीएम बोले-जाँच के बाद कार्यवाही
इधर मामलें में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि जांच के आदेश दिए हैं, जांच की जा रही है, जांच रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी। गौर हो कि सीएम के निर्देश के बाद ही इस मामले में महामसुंद कलेक्टर की ओर से मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं, हालांकि विधायक विमल चोपड़ा की ओर से न्यायिक जांच की मांग की जा रही है।