एटीएम कैशलेस : रमन बोले-रिजर्व बैंक के अधिकारियों से करेंगे बात


रायपुर। राजधानी रायपुर समेत प्रदेशभर के एटीएम कैशलेस हो चुके है। लगभग 80 फीसदी एटीएम में कैश नहीं है। ये हालत सिर्फ राजधानी रायपुर की नहीं है बल्कि कई प्रदेशो की है। बताया जा रहा है कि कैश की कमी के कारण एटीएम में रूपए नहीं डाले जा पा रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से एटीएम में कैश न उपलब्ध होने से फिर नोटबंदी जैसी परेशानी हो रही है, हालांकि आरबीआई सूत्रों की मानें तो स्तिथि जल्द ही नियंत्रण में कर ली जाएगी। रिजर्व बैंक ने छत्तीसगढ़ समेत जिन राज्यों में नकदी की आपूर्ति दुरुस्त करने के लिए कदम उठाए हैं और उम्मीद जताई है कि जल्दी ही हालात सामान्य हो जाएंगे। रिजर्व बैंक के सूत्रों का कहना है कि छत्तीसगढ़, असम, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश आदि राज्यों में लोगों के जरूरत से ज्यादा नकदी निकालने की वजह से यह संकट खड़ा हुआ है। इधर मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने इस मामलें में रिजर्व बैंक के अधिकारियों से बात करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि दूसरे प्रदेश में कैश की किल्लत का असर ज्यादा है, छत्तीसगढ़ में अभी वैसी स्थिति नहीं, इस मामले में बैंक के अधिकारियों से बातचीत की जायेगी।

रायपुर में ही खापते है 30 करोड़
छत्तीसगढ़ में पिछले कई दिनों से संकट चल रहा है। अकेले रायपुर में एसबीआई के करीब 250 एटीएम हैं। इसमें रोजाना 25-30 करोड़ कैश की जरूरत पड़ती है, लेकिन एसबीआई के पास केवल 3 करोड़ रूपए आ रहे हैं। जिसके कारण एसबीआई के आधे से ज्यादा एटीएम खाली पड़े हुए हैं। कुछ एक एटीएम में पैसे हैं, तो पांच सौ के नोट निकल रहे हैं। एसबीआई के एटीएम पैसे की कमी के कारण बंद पड़े हुए हुए हैं।

संबंधित पोस्ट

रायपुर की गुनविन बनीं कीट नन्हीपरी लिटिल मिस इंडिया 2019

कांग्रेस की महिला दावेदारों ने दी आत्महत्या की धमकी

आईटीबीपी के मारे गए जवानों को दी गई अंतिम बिदाई

आंकलन का भी वक्त

मुख्यमंत्री निवास में सीएम भूपेश ने मनाया गोवर्धन तिहार

दो साल बाद बदलेगा मुख्यमंत्री निवास का पता, CM भूपेश ने किया भूमिपूजन

धनतेरस : धनतेरस पर खरीदी से ज़्यादा ज़रूरी है ये बातें…

नवनिर्वाचित विधायक राजमन बेंजाम ने ली शपथ

अब 21 साल का भी हो सकता है महापौर और पंचायत अध्यक्ष

सरकारी बंगला खाली करेंगे विक्रम, रमन के बन सकते है पडोसी

सूपेबेडा में बोली राज्यपाल अनुसुइया, केंद्र की एक टीम से भी कराएंगे जाँच

सरकार के ख़िलाफ़ किसानों का देशव्यापी आंदोलन