नर्सों पर लगाया एस्मा, हड़ताली चार हज़ार नर्स गिरफ्तार


रायपुर। 9 सूत्रीय मांगों को लेकर धरना दे रहीं नर्सों के हड़ताल पर एस्मा लगाए जाने के बाद पुलिस ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए ईदगाह भाठा से करीब एक हजार नर्सों को गिरफ्तार कर सेंट्रल जेल भेज दिया है। आज सुबह-सुबह बड़ी संख्या में पुलिस बल ईदगाह भाठा पहुंची और नर्सों को पकड़ कर सीधे पुलिस वाहनों में बैठाना शुरू कर दिया। इस बीच पुलिस को हल्का बल प्रदर्शन भी करना पड़ा। नर्सों ने इस बीच सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। नर्सों के मुताबिक एस्मा लगाकर शासन ने पद तो छीन लिया है साथ में गिरफ्तार भी कर लिया है। छत्तीसगढ़ परिचालिका संघ की प्रदेश अध्यक्ष देवाश्री साव ने बताया कि धरने पर बैठे सभी आंदोलन करने वाले स्टॉफ नर्सों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और उन्हें सेंट्रल जेल में भेज दिया है। नर्स अपनी मांग को लेकर बीते 15 दिनों से ईदगाह भाठा धरना स्थल पर धरना दे रही हैं। आज उनकी भूख हड़ताल का पांचवा दिन है। अब शासन ने आंदोलन को बंद करने के लिए कड़ा रुख अपनाना शुरू कर दिया है। छत्तीसगढ़ परिचारिका संघ के अध्यक्ष देवाश्री साव का कहना है कि शासन हमारी मांगों को पूरा नहीं कर पाई, इसी वजह से आंदोलन को बंद करने के लिए पुलिस फोर्स का सहारा लेकर अब आंदोलन दबाने की कोशिश कर रही है। शासन ने पहले डरा धमका कर एस्मा लगाया बावजूद नर्सेस आंदोलन करने से पीछे नहीं हटे तो शुक्रवार को नोटिस चिपकार हमारे साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर बल हमारे आंदोलन को कुचलने में जुट गई है।