लगातार हो रही पीलिया से मौत, बेकाबू हुए राजधानी के हालात


रायपुर। राजधानी के पीलिया प्रभावित क्षेत्र मोवा में फ़िर 2 लोगों की मौत हो गई। गुरुवार रात मोवा के निजी अस्पताल में एक 36 वर्षीय प्रेम यादव और आंबेडकर अस्पताल में मोवा निवासी एक महिला की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि नवविवाहिता एक बच्चे को जन्म देकर अपनी जान गंवा बैठी। बता दें कि अब तक शहर में पीलिया से पांच लोगों की मौत हो चुकी है। 4 दिनों के अंदर ही एक ही क्षेत्र के 2 लोगों की मौत पीलिया से हो गई। बताते हैं हैं कि रायपुर में जिन पांच लोगों की मौत पीलिया से हुई है, उनमें से चार लोग एक ही इलाके के हैं।
इधर पीलिया के बढ़ते कहर और एक के बाद एक हो रही मौतों के बाद भी जिम्मेदार उनका इलाज़ नहीं हो पाने और झाड़फूंक जैसी सफाई दे रहे है। वही मोवा में अब भी हालात खराब हैं। पीलिया की रोकथाम के लिए नगर निगम प्रशासन तमाम प्रयास करने का दावा कर रही है, मगर इन दावों की ज़मीनी हकीकत कुछ और ही सामने आ रही है।

फटकार के बाद भी नहीं चेता निगम
पीलिया से हो रही मौतों पर बिलासपुर हाई कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए अपने प्रतिनिधियों द्वारा शहर के पेय जल की जांच करवाई थी। कोर्ट में पेश की गई रिपोर्ट में पानी में ई कोलाई नामक खतरनाक बैक्टीया होने की बात सामने आई। कोर्ट ने रायपुर नगर निगम से मामले पर विस्तृत रिपोर्ट पेश करने को कहा, जिसके बाद 24 अप्रैल को निगन अधिकारियों ने कोर्ट में अपनी रिपोर्ट पेश कि जिसमें शहर को साफ पानी देने का दावा किया गया। हालांकि इस दावे को परखने कोर्ट ने भी पानी के सैम्पल लिए।